DA Image
30 मार्च, 2021|1:58|IST

अगली स्टोरी

Work From Home Tips : घर बैठे बनिए कामकाजी महिला

work from home

आप हाउस वाइफ हैं। नौकरी करने की बहुत ज्यादा चाहत है, पर परिस्थितियां अनुकूल नहीं। ऐसे में मन मसोस कर रहने की जगह इंटरनेट की मदद से घर से कुछ काम क्यों न किया जाए! कैसे घर बैठे ही आर्थिक आत्मनिर्भरता के अपने सपने को साकार करें, बता रही हैं स्वाति शर्मा

आज मैं ऊपर, आसमां नीचे, आज मैं आगे, जमाना है पीछे...। ये बोल पढ़ते ही इसकी धुन खुद-ब-खुद आपके दिमाग में घूम गई होगी। हो सकता है किसी जमाने में यह आपके पसंदीदा गीतों में से एक हो। शायद इस गीत में आपके ढेरों सपने भी समाए हों। याद आ गए क्या वो सपने? कुछ बनने की सोची थी, पर किसी पड़ाव पर ठहर गईं। वो पड़ाव जहां आप एक पत्नी, मां और न जाने क्या-क्या बनीं। सप्ताह के सात दिन और 24 घंटे ड्यूटी आवर्स और पद का नाम हाउस वाइफ। जिम्मेदारी बड़ी है, पर यहां न करियर ग्रोथ है और न ही वेतन। क्या सिर्फ इतना ही सोचा था? 

हकीकत तो यह है कि ये एक ऐसा पड़ाव है, जो आपके चाहते या न चाहते हुए आपको बंधनों में जकड़े ही रहता है। ऐसे में मन में एक अफसोस घर कर जाता है कि खुद के लिए कुछ कर ही नहीं पाई। कभी जिम्मेदारियों के एहसास तो कभी सामाजिक बंधनों के चलते घर की देहरी पार कर नौकरी करने जाना और कामकाजी महिलाओं की श्रेणी में खुद को स्थान दिलाना आपके लिए मानो चांद पर जाने के बराबर हो। देखा जाए तो भारत के सामाजिक ढांचे में महिला को गृहलक्ष्मी का दर्जा प्राप्त है। उसके लिए घर की जिम्मेदारियों को पूरा करना सबसे जरूरी माना गया है। अगर आप घर-गृहस्थी की जिम्मेदारियों से पूरी तरह बाहर निकलने की हिम्मत नहीं कर पा रही हैं, तो इसका ये भी मतलब नहीं है कि आप खुद के लिए कुछ भी न करें। 24 में से खुद के लिए 2 घंटे चुराना गलत नहीं है। सोचिए कि इन दो घंटों में करेंगी क्या? वही जो करना चाहती थीं। समाज में खुद की छोटी सी पहचान, अपनी मेहनत की कमाई और अपने सपनों पर खुद का अधिकार। 

जरूरी नहीं आप इसके लिए घर के बाहर जाएं। आप घर बैठे भी ये सब कुछ कर सकती हैं। होम ट्यूशन, कुकिंग क्लासेज, हॉबी क्लास, ब्यूटी पार्लर जैसे विकल्प हमेशा से ही काम के रहे हैं। लेकिन इनके अलावा भी बहुत से ऐसे मौके हैं, जो आपका इंतजार कर रहे हैं। इस काम में इंटरनेट आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं। हाथ में मोबाइल है, तो देर किस बात की! अपने कमरे के एक कोने को आप अपना ऑफिस बना सकती हैं। जरूरत है तो बस एक मेज, कुर्सी, कंप्यूटर और आपके कुछ घंटों की।

working mom

डिजिटल मार्केटिंग में मौके
इंटरनेट प्रचार-प्रसार का सशक्त साधन बन चुका है। लेकिन हर किसी के लिए संभव नहीं है कि वो व्यस्त दिनचर्या से वक्त निकालकर डिजिटल प्रचार कर सके। हर वक्त ऑनलाइन दिखते रहने में आप उनकी मदद कर सकती हैं। किसी भी व्यक्ति या ब्रांड के ऑनलाइन कार्य जैसे वेबसाइट बनाना, तस्वीरें पोस्ट करते रहना, सर्वे आदि में आपके लिए करियर विकल्प मौजूद हैं। अगर आप इंटरनेट सैवी हैं तो आप बखूबी ये कार्य कर सकेंगी।

यूं करें शुरुआत
ऑनलाइन बहुत सारे डिजिटल मार्केटिंग कोर्स मौजूद हैं। इनकी अवधि 6 महीने से लेकर एक वर्ष तक की होती है। कोर्स को करने के बाद आप इस ओर रुख कर सकती हैं। इस क्षेत्र में प्रवेश करने का ये सबसे आसान तरीका है। इसके अलावा आप कुछ मार्केटिंग वेबसाइट्स को फॉलो भी कर सकती हैं। इंडस्ट्री के जाने-माने लोगों से संपर्क बनाए रखने से आपको इस क्षेत्र में आने में आसानी होगी।  इस फील्ड में प्रोजेक्ट के मुताबिक काम मिलता है और पेमेंट भी उसी अनुसार मिलती है।

रेज्यूमे तैयार करना भी है एक कला
ये विकल्प उन महिलाओं के लिए है, जो कॉर्पोरेट दुनिया से पहले ताल्लुक रख चुकी हों। यदि आपमें कॉर्पोरेट जगत की समझ है तो आपको बखूबी पता होगा कि रेज्यूमे तैयार करते वक्त किन बुनियादी बातों का ख्याल रखा जाता है। नौकरी के लिए परखी जाने वाली कुछ मामूली बातों का अंदाजा भी होगा आपको। ऐसे में आप कुछ वक्त निकालकर दूसरों के लिए रेज्यूमे तैयार कर सकती हैं।

यूं करें शुरुआत
रेज्यूमे राइटिंग के लिए कॉर्पोरेट जगत के अनुभवों के अलावा अंग्रेजी भाषा पर मजबूत पकड़ जरूरी है। यदि आप इन आवश्यकताओं को पूरा करती हैं तो आप रिकू्रटमेंट एजेंसी से संपर्क कर सकती हैं। ऑनलाइन भी बहुत सारी जानी-मानी एजेंसी और वेबसाइट्स मौजूद हैं, जो लोगों को नौकरी दिलाने का काम करती हैं। इन एजेंसियों में रेज्यूमे राइटिंग विभाग होता है। एक इंटरव्यू और लिखित परीक्षा देने के बाद आपको ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके बाद आपको काम मिलना शुरू हो जाएगा।

work from home

पढ़ाएं ऑनलाइन ट्यूशन
डिजिटल जमाने में अब दौर आ चुका है, ऑनलाइन ट्यूशन का। अगर आप पढ़ाने की काबिलियत या अनुभव रखती हैं तो ये विकल्प आपके लिए बेहतर रहेगा। इंटरनेट पर बहुत सारी ऑनलाइन ट्यूशन वेबसाइट मौजूद हैं, जिनसे जुड़कर आप अपने विषय में बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर सकती हैं। यहां आपको छोटी कक्षाओं से लेकर उच्च शिक्षा तक के विषय पढ़ाने का मौका मिल सकता है।

यूं करें शुरुआत
आप खुद की वेबसाइट या एप बनाकर ट्यूशन की शुरुआत कर सकती हैं। इसमें रोज की क्लास लेने के अलावा कम अवधि के कोर्स भी डाल सकती हैं। इसके अलावा इंटरनेट पर बहुत सी वेबसाइट मौजूद हैं, जो समय-समय पर ट्यूटर की मांग करती रहती हैं।

बनिए कंटेन्ट क्रिएटर
यूं तो यह डिजिटल मार्केटिंग का ही हिस्सा है, लेकिन ऑफलाइन भी आपको इसमें बहुत अवसर प्राप्त हो सकते हैं। ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स को अपने सामान की जानकारी देनी होती है, वेबसाइट बनाना और अपडेट करते रहना, आर्टिकल लिखना जैसे कई कार्य आप कर सकती हैं। इसके अलावा कई विश्वविद्यालयों, कोचिंग संस्थानों को भी शोध पत्र लिखाने, टाइप करवाने, वर्क शीट तैयार कराने जैसे कई अकादमिक कार्यों के लिए कंटेंट राइटर की आवश्यकता पड़ती है।

यूं करें शुरुआत
ऑनलाइन आपके लिए बहुत मौके हैं। आपको बस सर्च इंजन में कंटेन्ट क्रिएटर जॉब डालने की देरी है। इसके अलावा आप अकादमिक लेखन के लिए खुद ही संस्थानों से संपर्क कर सकती हैं।

वीडियो ब्लॉगिंग में भविष्य
वीडियो ब्लागिंग यानी वीडियो बनाकर इंटरनेट पर डालना। आपकी रुचि जिस भी क्षेत्र में हो, यह जगह आपके लिए खुली हुई है। बस रचनात्मकता होना जरूरी है ताकि  वीडियो खूब पसंद किया जाए। वीडियो में जितनी नई जानकारियां होंगी, उसे उतना ज्यादा पसंद किया जाएगा।

यूं करें शुरुआत
इसके लिए यू-ट्यूब सबसे सही जगह है। इसके अलावा आप सोशल मीडिया की अन्य वेबसाइटों पर भी पेज या ग्रुप बनाकर वीडियो अपलोड कर सकती हैं। ज्यादा लाइक और विजिट मिलने पर आपको विज्ञापन मिलना शुरू हो जाएंगे। यहीं से धीरे-धीरे आमदनी भी शुरू होगी। आपको इसमें थोड़ा धैर्य रखने की आवश्यकता है।

work from home

रीसेलिंग में भी हैं अवसर
आपने कितनी ही बार ऑनलाइन शॉपिंग की होगी। लेकिन क्या आप जानती हैं कि ऑनलाइन सेलिंग का काम करके आप पैसे कमा सकती हैं। जरूरी नहीं है कि इसके लिए आपके पास सामान का स्टॉक मौजूद हो। आप दूसरे के स्टॉक का प्रचार कर उन्हें बेच सकती हैं। 

यूं करें शुरुआत
इंटरनेट पर कुछ रीसेलिंग एप मौजूद हैं। आप उसकी जानकारी प्राप्त कर इन्हें इंस्टॉल कर लें। यहां आपको बहुत सारा सामान मिलेगा। आप उसकी तस्वीरें दूसरों से शेयर करके सामान पसंद करा सकती हैं। इसके लिए आप खुद का ग्रुप भी तैयार कर सकती हैं, जहां आप इस सामान को पेश कर सकें। ऑर्डर मिलने पर सामान की डिलीवरी के बाद आपको आपका मार्जिन मिल जाता है।  

इन बातों का रखना होगा ध्यान
- कार्य के चुनाव में अपनी परिस्थितियों को नजरअंदाज न करें। मसलन, आप कितना वक्त निकाल सकती हैं। काम अकेले कर सकती हैं या टीम में।
- जितना भी समय निकाल पा रही हैं, उसमें पूर्ण रूप से केंद्रित होकर कार्य करें। 
- हो सके तो कार्य के दौरान अपना कमरा बंद रखें ताकि अवरोधों से बच सकें। क्लाइंट से सीधा मुखातिब होने जैसे कार्यों के लिए ये बेहद जरूरी है। 
- कार्य के अनुसार पर्याप्त उपकरण की व्यवस्था रखें, जैसे हेड फोन, माइक, कंप्यूटर आदि। 
- अपने पेमेंट के मामलों में पारदर्शिता बनाए रखें। 
- कम्यूनिकेशन स्किल भी जरूरी है।

(एजुकेशन एंड करियर कंसल्टेंट कीर्ति श्रॉफ से बातचीत पर आधारित)

इसे भी पढ़ें : रखो तनाव से दूरी जिम्मेदारियां होंगी पूरी​​​​​​​