अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन सवालों के जवाब दीजिए और जानिए कैसी मां हैं आप?

कभी सोचा है कि आपकी पेरेंटिंग पर्सनैलिटी क्या है? क्या आप हेलिकॉप्टर पेरेंट हैं या फिर बच्चों के साथ बच्चा बनने में विश्वास रखती हैं? इस क्विज में हिस्सा लीजिए और जानिए अपनी पेरेंटिंग पर्सनैलिटी

 

1. आपका बच्चा स्कूल से लौटकर शिकायत करता है कि दूसरे बच्चे स्कूल में उसे परेशान करते हैं और अब वह स्कूल नहीं जाना चाहता। आप क्या करेंगी?
क.
आपको बहुत बुरा लगेगा। भला, कोई इतने छोटे बच्चे को कैसे परेशान कर सकता है? बुलिंग का असर तो जीवन भर के लिए बच्चे पर रह जाता है। आप अगले दिन ही स्कूल जाकर उसकी क्लास टीचर, प्रिंसिपल, स्कूल के मैनेजमेंट...सबसे शिकायत करेंगी।
ख. उसे ढाढस बंधाएंगी और कहेंगी कि ऐसा बड़ों के साथ भी होता है। उसे समझाएंगी कि ऐसा करना गलत है, पर धीरे-धीरे इस तरह की स्थितियों से लड़ना उसे खुद सीखना होगा। उसे विरोध जताने और प्रतिक्रिया देने के लिए प्रेरित करेंगी। सेल्फ डिफेंस क्लास में उसका दाखिला करवाएंगी।
ग. उसे इतना कमजोर होने के लिए मना करेंगी। इतना कमजोर बच्चा आपका तो हो ही नहीं सकता।

 

2. आपकी बेटी का चुनाव स्कूल के स्पोट्र्स टूर्नामेंट के लिए हुआ है। आपकी प्रतिक्रिया?
क.
आप उसे सारे प्रैक्टिस सेशन के लिए ले जाएंगी, पर इस बात को लेकर परेशान भी रहेंगी कि अगर वो मेडल जीत नहीं पाएगी तो उसे दुख होगा। आप स्कूल को चिट्ठी लिखकर अनुरोध करेंगी कि जो बच्चे हार जाएं, उन्हें निराशा न हो इसलिए  हर बच्चे को मेडल दिया जाए।
ख. आप बच्चे को अच्छी कोचिंग देने के लिए सबसे अच्छा कोच तलाशेंगी। ये तो बस शुरुआत है, आप इस बात की तसदीक करेंगी कि आपके बच्चे को सबसे अच्छी ट्रेनिंग मिले। आप उसकी डाइट का खास ध्यान रखेंगी। आप उस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले बच्चों की लिस्ट तैयार करेंगी और उनकी कमजोरियों को जानने की कोशिश करेंगी ताकि अपने बच्चे को उस क्षेत्र में बेहतर बना सकें।
ग. आपको बच्चे के लिए बहुत खुशी होगी। पर, आपका मानना है कि बच्चे को अलग से ट्रेनिंग देने की कोई जरूरत नहीं है। बच्चा प्रतियोगिता में यहां तक अपनी क्षमता के बल पर पहुंचा है और आगे भी जाएगा। 
 

3.  अपनी तरफ से पूरी कोशिश करने के बाद भी बच्चा टूर्नामेंट से बाहर हो गया। आप?
क.
आप उसे गले लगाएंगी और अपनी तरफ से पूरी कोशिश करने की बधाई देंगी। उसे घुमाने के लिए बाहर ले जाएंगी और उसे आसान भाषा में समझाने की कोशिश करेंगी कि जिंदगी में हार-जीत लगी रहती है और हार का सामना करने पर निराश होने की जरूरत नहीं। बस, हमेशा अपनी ओर से पूरी कोशिश करनी चाहिए।
ख. बच्चे को पहले पानी पीने के लिए देंगी और फिर उससे मैच के बारे में विस्तार से बात करेंगी। उसकी खामियों को कहीं लिखेंगी ताकि उसके कोच के साथ आगे की स्ट्रैटजी बनाई जा सके। उसके लिए नया कोच तलाशने के बारे में भी सोचेंगी। बच्चे की डाइट में स्पोट्र्स ड्रिंक्स और न्यूट्रिशन बार भी ज्यादा मात्रा में शामिल करेंगी।
ग. बस, यह खेल ही तो है। दुनिया यहां खत्म नहीं होती। कुछ देर बाद ही आप बिल्कुल सामान्य व्यवहार करने लगेंगी।

 

4. परीक्षा के लिए आपने बच्चे की तैयारी बहुत अच्छे से करवाई। आप आश्वस्त थीं कि उसकी तैयारी पूरी है, पर परीक्षा में वो आधे से ज्यादा सवालों के जवाब नहीं लिख पाया। आप?
क. बच्चे पर बहुत ज्यादा गुस्साएंगी और चीखेंगी। वो ऐसा कैसे कर सकता है। पर, थोड़ी देर बाद ही आपको बुरा लगने लगेगा कि आप बच्चे पर इतना ज्यादा चिल्लाईं। इसके बाद पूरा दिन आप बच्चे के मूड को ठीक करने और उससे माफी मांगने में बिताएंगी।
ख. आपको खराब तो लगेगा, पर बच्चे के सामने आप यह बात जाहिर नहीं होने देंगी। मन-ही-मन सोचेंगी कि बच्चा दूसरे विषयों में कैसे बेहतर नंबर ला सकता है। बच्चे की याददाश्त बेहतर करने के लिए उसकी डाइट में ओमेगा-थ्री और कुछ खास खाद्य पदार्थों को शामिल करना तय करेंगी।
ग. ऐसा होते रहता है। यह कोई बड़ी बात नहीं है। अगली बार वह परीक्षा में अच्छा करेगा।

 

5. बच्चे को बहुत ज्यादा कफ और जुकाम हो गया है और बुखार के भी सारे लक्षण नजर आ रहे हैं। आप?
क. बच्चे के साथ बिस्तर पर वक्त बिताएंगी ताकि उसे आराम मिल सके। रात भर उसका बुखार जांचेंगी। गूगल पर घरेलू नुस्खे तलाशेंगी और नियमित अंतराल पर बच्चे को देती रहेंगी।
ख. एक छींक आते ही डॉक्टर को फोन करेंगी। कुछ बुरा होने का इंतजार क्यों करना? उसे विटामिन-सी की गोलियां खिलाना शुरू कर देंगी।
ग. ज्यादा परेशान होने की क्या जरूरत? बच्चे तो बीमार पड़ते ही रहते हैं। उसे कफ सिरप पिला देंगी, वो ठीक हो जाएगा।

यह है परिणाम

अधिकांश क: एक मां के रूप में आप सिर्फ अपने दिल की सुनती हैं। आप अपनी भावनाओं के आधार पर पेरेंटिंग से जुड़े अपने सभी निर्णय लेती हैं। पर, आप यह भी तय करती हैं कि वह अनुशासन में रहे और एक अच्छा बच्चा बने। बातचीत, कहानी आदि के माध्यम से आप उसे अनुशासन का पाठ पढ़ाने में विश्वास रखती हैं। 

अधिकांश ख: मां के रूप में अपनी भूमिका को आप किसी नौकरी से कम नहीं समझतीं और इस काम में अपना सौ प्रतिशत देना चाहती हैं। आप हर स्थिति का अच्छे से अध्ययन करने के बाद आगे की योजना बनाती हैं। आप बचपन को एक ऐसा ट्रेनिंग पीरियड मानती हैं, जिसके बल पर बच्चे का भविष्य अच्छा हो सकेगा। आप चाहती हैं कि बच्चा हमेशा एक तय रुटीन में अपना सारा काम करे।

अधिकांश ग: आप मां के रूप में अपनी भूमिका को लेकर जरा भी सतर्क नहीं हैं। पेर्रेंंटग को आप बहुत हल्के में लेती है। बच्चे के अच्छे भविष्य के लिए बच्चे पर आपको थोड़ा और ध्यान देने की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:participate in this quiz and know how are you as a mother?