This site uses cookies

This site and its partners use technology such as cookies to personalise content and ads and analyse traffic. By using this site you agree to its privacy policy. You can change your mind and revisit your choices at anytime in future.

ओपिनियन

आभासी लेकिन कामयाब अदालतें

वर्चुअल कोर्ट, यानी आभासी अदालतों को स्थाई रूप देने के प्रस्ताव पर मिश्रित प्रतिक्रिया आई है। कुछ लोग इसमें असीम संभावनाएं देख रहे हैं, तो दूसरी ओर कुछ ऐसे भी हैं, जो इसे अव्यावहारिक, अपारदर्शी और...

तमिलनाडु : सजने लगा चुनावी चौसर

तमिलनाडु की मौजूदा राजनीति में यदि किसी व्यक्ति की कामयाबी देखने लायक है, तो वह मुख्यमंत्री ई के पलानीसामी ही हैं। वह न सिर्फ जयललिता मंत्रिमंडल के एक महत्वहीन मंत्री की छवि से बाहर निकलने में कामयाब...

नफरत का कारोबार और हम

सोशल मीडिया किसी देश के हालात को किस हद तक और कितनी तेजी से बिगाड़ सकता है, इसे समझना हो, तो हमें इथियोपिया जाना होगा। बस एक साल पहले तक इस पूर्वी अफ्रीकी देश के हालात इतने अच्छे दिख रहे थे कि उससे...

ताकि और गर्व से कहें, हम बिहारी हैं

पिछले दो सप्ताह से अभिनेता मनोज वाजपेयी द्वारा गाया गया एक रैप गीत बम्बई में का बा  दिलो-दिमाग में गूंज रहा है। यू ट्यूब पर 50 लाख से ज्यादा बार इसे देखा जा चुका है और इससे कई गुना ज्यादा लोगों...

नदियों को बांधने की कीमत

बिहार की बागमती नदी से बाढ़-सुरक्षा दिलाने की बात एक बार फिर चर्चा में है। यह नदी काठमांडू से करीब 16 किलोमीटर उत्तर-पूर्व शिवपुरी पर्वतमाला से निकलकर 195 किलोमीटर की यात्रा करती हुई सीतामढ़ी जिले के...

ड्रैगन के सामने निडर ताइवान

वैसे तो अपनी हर भौगोलिक सीमा पर चीन का आक्रामक रुख बना हुआ है, लेकिन ताइवान के खिलाफ उसके तेवर खासतौर से गरम दिख रहे हैं, क्योंकि हाल के हफ्तों में उसने अमेरिका के कई वरिष्ठ मंत्रियों का अपने यहां...

असली चिंता छोटे किसानों की

संसद ने खेती-किसानी से जुड़े तीन अहम विधेयक पारित किए हैं। इनमें पहला विधेयक है, ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवद्र्धन व सरलीकरण) विधेयक’, जो किसानों को यह अधिकार देता है कि वे अपनी फसल...

दो देश, पर काम कुछ हूबहू

सात-आठ साल पहले पाकिस्तानी दैनिक डॉन  में छपी एक किताब की समीक्षा पर कई कारणों से मेरा ध्यान गया था। लेखक एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी थे और उन्होंने कराची के अपराध जगत, माफिया व राजनीतिज्ञों के...

अमन-चैन का जमीनी अर्थशास्त्र

शांति और समृद्धि का संबंध जगजाहिर है। इतिहास की किताबों में झांकें, तो जहां संघर्ष है, वहां अशांति भी है और गरीबी, भुखमरी, बीमारी, बेहाली और बेरोजगारी भी। वहीं लूटमार है और मार-काट भी। अफ्रीका,...

किसानों के देश की अपनी चिंताएं

अमेरिका के एक किसान ने ट्वीट किया कि उसने 2018 में मक्का जिस कीमत पर बेचा, मक्के की उससे ज्यादा कीमत उसके पिता को 1972 में मिली थी। यह एक ऐसे देश की दशा है, जहां छह-सात दशक से खुला बाजार है। अभी हाल...

ताकि घर के पास मिले रोजगार

अंग्रेज भारत को वनों का महासागर कहते थे। इन पेड़-पौधों को ग्राम और आदिवासी समूहों ने पाला-पोसा था। दादाभाई नौरोजी के शब्दों में कहें, तो भारत के आर्थिक शोषण के लिए अंग्रेजों ने इन सामुदायिक संगठनों को...

गोपनीय मोर्चे पर हठ की सीमा 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के जो हालात बयां किए, वे काफी हद तक सटीक माने जाएंगे। उन्होंने न सिर्फ वहां की स्थिति बताई, बल्कि यह संकेत भी दिया कि हम किस तरह...

महामारी थामने में पिछड़ते हम 

भारत में कोरोना ने जैसी रफ्तार पकड़ ली है, वह चिंतनीय है। इन पंक्तियों के लिखे जाने तक संक्रमित मरीजों की संख्या 50 लाख के करीब पहुंच गई थी, और आज जब आप इस आलेख को पढ़ रहे हैं, तब मुमकिन है कि हम इस...

मीडिया के घटाटोप में हमारा विवेक

भारतीय गांवों में एक कहावत कही-सुनी जाती है, ‘जैसा हम देखते हैं, वैसा ही हो जाते हैं।’ अर्थात कहने-सुनने से ज्यादा ‘देखने’ का हम पर असर होता है। संगत, पंगत और दूसरों की...

बढ़ती हिंदी के रूप अनेक

बाईस की उम्र तक मैं कलकत्ता (अब कोलकाता) में रहा। 1960 के दशक में उस शहर में, जहां बांग्लाभाषी लोग कभी हिंदी नहीं बोलते थे, अब बहुत बड़ा बदलाव दिखता है। मैं बांग्ला धारावाहिक आज भी देखता हूं। बीत गया...

इस सहमति में कई पेच हैं

गुरुवार को भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की मुलाकात के बाद पांच बिंदुओं का एक साझा बयान जारी किया गया है। यह बैठक काफी अहम थी, क्योंकि इसका मकसद वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पूर्वी लद्दाख में चरम पर...

नई चीन नीति गढ़ने का मौका

विदेश सचिव हर्ष शृंगला ने 4 सितंबर को कहा, ‘भारत-चीन सीमा पर एक अभूतपूर्व स्थिति बन गई है। 1962 के बाद कभी भी इस तरह से हालात नहीं बिगडे़ थे।’ उन्होंने मौजूदा ‘तनातनी से पहले की...

चौथी क्रांति के जरूरी हथियार 

वक्त आ गया है, भारत आत्मनिर्भरता के लिए अपनी तकनीकी बुनियाद तैयार करे। भारत को तकनीकी संप्रभुता की ओर तेजी से बढ़ना होगा। इस बात का क्या मतलब है? आज हम एक ऐसी दुनिया में हैं, जहां 3डी प्रिंटिंग,...

अभी लंबा चलेगा यह विवाद

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन लगातार समझौते का उल्लंघन कर रहा है। सोमवार को एक बार फिर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जवानों ने पूर्वी लद्दाख में हमारी एक फॉरवर्ड पोजिशन के करीब आने की कोशिश की और...

अपनी लक्ष्मण रेखाओं का अनादर 

भारतीय संविधान एक ऐसे संघ की कल्पना करता है, जिसमें राज्यों और केंद्र के अलग-अलग क्षेत्राधिकार स्पष्ट रूप से निर्धारित हैं। केंद्र और राज्य सूचियों के अतिरिक्त संविधान में एक समवर्ती सूची भी है,...

ब्याज पर ब्याज लगाने का सवाल 

‘सवाल चक्रवृद्धि ब्याज का है। राहत के लिए किस्त भरने से छूट और जुर्माने के तौर पर ब्याज एक साथ नहीं चल सकते। रिजर्व बैंक को यह बात साफ करनी होगी।’ यह कहना है सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस आर...

अवसाद या आवेश के निहितार्थ 

आत्महत्या हो या हत्या, दोनों ही हालत में होने वाली हत्या मनोरोगियों के एक ही विकार की वजह से हुई घटना है। मरीज की मानसिक हालत पर निर्भर करता है कि वह आत्महत्या करेगा या हत्या। मिसाल के लिए, एक मामला...

दलीप से कमला तक जारी है सफर

अमृतसर में जन्मे गणितज्ञ और किसान नेता दलीप सिंह सौंद ने अमेरिकियों को तब चौंका दिया, जब 6 नवंबर, 1955 को उन्होंने कैलिफोर्निया के 29वें डिस्ट्रिक्ट से कांग्रेस का चुनाव जीता। सौंद महज 19 साल की उम्र...

पहाड़ों पर लड़ने का हिमालय सा हौसला

सन 1974 के उस दिन को मैं भुला नहीं पाता। मैं चकराता में स्पेशल फ्रंटियर फोर्स (एसएफएफ) का ट्रेनिंग अफसर था। सरसावा में पैरा जंपिंग की ट्रेनिंग हो रही थी। विमान ने उड़ान भरी। तब एसएफएफ में तिब्बती...

मिलकर मुकाबले का आया मौका 

पिछले साल अप्रैल-जून तिमाही की तुलना में इस साल इसी तिमाही में भारत की जीडीपी में 23.9 प्रतिशत की कमी आई है, यह संकेत है कि लॉकडाउन ने अर्थव्यवस्था पर करारा प्रहार किया है। ध्यान रहे, सोमवार को जारी...

हमारी जमीन कुतरता ड्रैगन 

अभी तक भारत सरकार या रक्षा मंत्रालय ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि 29-30 अगस्त को भारत-चीन सीमा पर हुई झड़प का क्या मतलब है। इससे पहले चीन ने जो हरकतें की थीं, वे पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग त्सो के...

लोगों की ताकत बनती तस्वीरें 

ढाई महीने के भीतर ही ऐसी दो घटनाएं हुईं, जिन्होंने नागरिक अधिकारों की दुहाई देने वाले अमेरिका को पूरी तरह हिला दिया। पहली घटना मिनियापोलिस में हुई, जहां जॉर्ज फ्लॉयड नाम के अश्वेत की एक निरंकुश पुलिस...

नेपाल से बाढ़ न लाएं नदियां 

मानसून के मौसम में उत्तर बिहार और नेपाल से लगने वाले उत्तर प्रदेश के जिलों में बाढ़ कहर बनकर टूटती है। नेपाल के तराई इलाके भी इन दिनों इसी तरह पानी में डूब जाते हैं। इन इलाकों के लोग हर साल यह त्रासदी...

जीएसटी वही, जिससे सबको फायदा

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से जुड़ा राज्यों का मुआवजा विवाद फिलहाल हल होता दिख रहा है। बुधवार को जीएसटी कौंसिल की बैठक से जो बड़ी बात निकलकर बाहर आई, वह यही कि केंद्र ने राज्य सरकारों को दो रास्ते...

जीवन और शिक्षा की अग्नि परीक्षा

इंजीनिर्यंरग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं का मुद्दा बहुत गरमाया हुआ है। जून 2020 में होने वाली जेईई (मेन) और नीट 2020 की परीक्षाएं कोविड के बढ़ते प्रकोप के कारण स्थगित होती रही हैं। राष्ट्रीय परीक्षा...

More