class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देहरादून से चली डाक एक महिने बाद पहुंची बागेश्वर

देहरादून से चली डाक एक महिने बाद पहुंची बागेश्वर

श्री गुरु राम राय एजुकेशन मिशन देहरादून से चली एक डाक को पूरा महीना लग गया। अभ्यर्थी ने टीजीटी की प्रवेश परीक्षा देनी थी। वे डाक विभाग की गड़बड़ी के शिकार हो गए। उनका भविष्य भी अधर में लटक गया है। उन्होंने व्यवस्था के खिलाफ डाक विभाग को कड़ा पत्र लिखा है और मुआवजे की गुहार लगाई है। ऐसा नहीं होने पर अदालत का दरवाजा खटखटाने की चेतावनी दी है। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान को कमल मोहन जोशी ने आपबीती बताई। उन्होंने कहा कि वे धैना, सिलंगवाड़ी गांव के रहने वाले हैं। उनका पोस्ट आफिस लखनी में है। जिसका पिन 263639 है। उन्होंने श्री गुरु राम राय एजुकेशन मिशन देहरादून के पीजीटी हिंदी विषय प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन किया। 27 मई को उन्हें परीक्षा में शामिल होना था। लेकिन प्रवेश पत्र उनके पास नहीं था। करीब एक महीना दस दिन बाद 15 जून को उन्हें प्रवेश पत्र डाक विभाग से मिला। वे परीक्षा नहीं दे सके हैं। जिससे उनका भविष्य अधर में लटक गया है। उन्होंने कहा कि देहरादून से रजिस्ट्ररी 11 मई को भेजी गई। उन्होंने कहा कि डाक विभाग ने उनके पते से भी छेड़छाड़ की। उनके नाम से आई डाक का पिन बदल कर उसे 263642 कर दिया गया। उन्होंने कहा कि डाक कभी डंगोली और कभी कौसानी में घूमते रही। उन्होंने इसे डाक विभाग की लापरवाही करार दिया। उन्होंने कहा कि यदि उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वे अदालत की शरण में जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Post from Dehradun, a month later, Besheshwar arrived
23 जून से शुरू होगी बैडमिंटन प्रतियोगितापिथौरागढ़ में किसान की आत्महत्या के विरोध में धरने पर बैठे कांग्रेसी