class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोल पंपों पर खेल : पांच लीटर डीजल में 50 से 100 एमएल की घटतौली

पेट्रोल-डीजल की घटतौली पर देहरादून, डोईवाला और ऋषिकेश के चार पेट्रोल पंपों पर शनिवार को बड़ी कार्रवाई की गई। प्रशासन ने पेट्रोल की घटतौली पर एक पेट्रोल पंप और तीन पंपों के चार नोजल (मशीनें) सील कर दिए। चारों पेट्रोल पंपों के चालान भी काटे गए। 

डीएम एसए मुरुगेशन के निर्देश पर शनिवार को डीएसओ पीएस पांगती के नेतृत्व में तीन टीमों ने देहरादून, डोईवाला, ऋषिकेश के पेट्रोल पंपों पर छापे मारे। आपूर्ति विभाग और बाट-माप की संयुक्त टीम ने अभियान की शुरुआत भानियावाला के सार्थक फिलिंग स्टेशन से की। इस पंप पर दो पेट्रोल और एक डीजल मशीन में पांच लीटर में 50 से 100 एमएल तक की घटतौली पकड़ी गई। इस पंप की तीनों मशीनों के साथ पेट्रोल पंप सील कर दिया। हालांकि एक मशीन से डीजल मिलेगा। टीम में पूर्ति निरीक्षक विभूति जुयाल, अशोक कुमार, अजयपाल सिंह, विवेक शाह, सुनील देवली, प्रशांत बिष्ट, विजय डोभाल थे। जिला आपूर्ति अधिकारी पीएस पांगती ने बताया कि पेट्रोल-डीजल की घटतौली करने पर चार पेट्रोल पंपों की मशीनें सील की गई हैं। विभाग की ओर से घटतौली के खिलाफ अभियान जारी रहेगा। 

दून के दो पंपों पर सब सही मिला
रिस्पना पल स्थित पंवार फिलिंग स्टेशन और हरिद्वार बाईपास स्थित ओम फिलिंग स्टेशन की भी संयुक्त टीम ने चेकिंग की, लेकिन दोनों पंपों में सब सही मिला।

लच्छीवाला में दो मशीनें सील
इसके बाद टीम ने लच्छीवाला स्थित मलिक फिलिंग स्टेशन चेक किया। इस पंप पर भी पेट्रोल की घटतौली होने पर दो मशीनें सील की गईं। टीम ने मंगल फिलिंग स्टेशन और बालाजी फिलिंग स्टेशन पर भी चेकिंग की। बालाजी पंप पर घटतौली में एक मशीन सील की गई।

कारगी के पंप पर भी घटतौली पकड़ी
कारगी चौक स्थित शहीद मेख गुरुंग फिलिंग स्टेशन की एक मशीन में पेट्रोल की घटतौली पकड़ी गई। टीम ने तीन बार पेट्रोल चेक किया। लेकिन तीनों बार पांच लीटर में 50 एमएल तक पेट्रोल कम निकला। टीम ने इस मशीन को सील कर चालान भी किया। 

ऋषिकेश में नहीं मिली घटतौली
ऋषिकेश में एआरओ राम दयाल, पूर्ति निरीक्षक पुष्पा बिष्ट और अशोक ने विरेंद्र दत्त फिलिंग स्टेशन, यातायात फिलिंग स्टेशन, गढ़वाल फिलिंग स्टेशन, सोहन एंड संस फिलिंग स्टेशन और अभिनव फ्यूलस में चेकिंग की। एआरओ राम दयाल ने बताया यहां सब सही मिला।

ऑटोमेशन फिर भी घटतौली 
दून में ज्यादातर पेट्रोप पम्प ऑटोमेशन के जरिए तेल कंपनियों के सर्वर से जुड़े हैं। किस पम्प से कितना पेट्रोल-डीजल बेचा जा रहा है, यह सब आंकड़ा कंपनियों के पास उपलब्ध रहता है। फिर भी पेट्रोल पम्पों पर घटतौली के मामले पूरी प्रक्रिया पर सवाल उठा रहे हैं।

इतना आ सकता है अंतर
एक तेल कंपनी के अधिकारी ने बताया कि दस लीटर पेट्रोल भरवाने पर 0.75 मिली ली. का वेरिएशन आ सकता है। इसी तरह पेट्रोल के टैंक में यदि 20 हजार पेट्रोल है तो इसमें चार प्रतिशत वेरिएशन आ सकता है। इससे ज्यादा वेरिएशन पर कंपनी कार्रवाई करती है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:inspection of Petramp pumps in Dehradun