class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दीपावली पर 131 साल बाद बन रहा अनूठा संयोग, इनके लिए रहेगा शुभ 

Diwali

इस बार दीपावली पर 131 साल बाद ऐसा योग बना है, जब स्वाति नक्षत्र, पद्यम और अमृत योग एक साथ रहेंगे। साथ ही तुला राशि में सूर्य, बुध और चंद्रमा का त्रिकोण बन रहा है। 

ज्योतिषाचार्य डा. सुशांत ने बताया कि इस मौके पर कई शुभ योग भी बन रहे हैं। पद्यम योग, सूर्य और बुध की एक साथ युक्ति होने से बुधादित्य योग बन रहा है। इस संयोग के चलते व्यापारिक वर्ग के साथ आम लोगों के लिए भी सुख संपन्नता, कल्याण और धन का लाभ मिलेगा। दीपावली में लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 7 बजकर 11 मिनट से रात 8 बजकर 16 मिनट तक रहेगा। सूर्यास्त होने के बाद प्रदोष काल के दौरान स्थिर लग्न में माता लक्ष्मी की पूजा करें। क्योंकि स्थिर लग्न में ही माता लक्ष्मी की पूजा करना अच्छा माना गया है। स्थिर लग्न के बारे में ज्योतिष में ऐसा बताया गया है कि वृषभ लग्न का काल ही स्थिर लग्न है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Diwali Pooja 2017
उत्तराखंड में सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू, ऐसे करें आवेदनशिक्षकों के काला दिवस का अभिभावकों ने विरोध किया