class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला टॉपर करन ने साबित कर दिया कि प्रतिभा के आगे अभावों का महत्व नहीं

जिला टॉपर करन ने साबित कर दिया कि प्रतिभा के आगे अभावों का महत्व नहीं

सीबीएसई बारहवीं के नतीजों में अल्मोड़ा जनपद में सर्वोच्च स्थान हासिल करने वाले जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्र करन खुल्बे ने अपनी शानदार सफलता से साबित कर दिया है कि प्रतिभा के आगे अभावों का कोई महत्व नहीं। बचपन में सिर से पिता का साया उठने के बावजूद बेहद गरीब परिवार का आंगनबाड़ी कार्यकत्री का यह सपूत भविष्य में प्रशासनिक सेवा अथवा भूगर्भ वैज्ञानिक बन देश सेवा करना चाहता है। ताड़ीखेत विकासखंड अंतर्गत ग्राम जैना निवासी करन खुल्बे ने 96 फीसदी अंकों के साथ परीक्षा उत्तीर्ण कर समाज के लिए मिसाल बनकर उभरा है। करन की दास्तां किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं। बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले करन के पिता स्व. नारायण दत्त बुधानी 10 साल पहले चल बसे, वह वाहन चलाकर और खेतीबाड़ी कर परिवार का भरण-पोषण करते थे। पति के गुजर जाने के बाद करन की मां दीपा देवी के ऊपर परिवार का सारा बोझ आ गया, लेकिन उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी और मेहनत-मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण करने के साथ चार बच्चों को अच्छी शिक्षा देने में भी कोर-कसर नहीं छोड़ी। पिता के चल बसने के बाद चार भाई बहनों में तीसरे नंबर के करन को बचपन में उसके नाना नंद किशोर उप्रेती अपने साथ भिकियासैंण ले गए। प्रावि सिनौड़ा में पाचवीं पास करने के बाद करन का चयन नवोदय विद्यालय के लिए हो गया, राजीव नवोदय चौनलिया के बाद आठवीं कक्षा से जवाहर नवोदय विद्यालय ताड़ीखेत में पढ़ाई शुरू की। प्रतिभावान करन हमेशा विद्यालय में अव्वल रहा। अपनी पारिवारिक परिस्थिति को हमेशा ध्यान में रखते हुए उसने लगन व परिश्रम से जी लगाकर पढ़ाई की। रविवार को सीबीएसई बोर्ड में जिला टॉप करके करन ने मिसाल पेश कर दी। करन इन दिनों किसी प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने दिल्ली गया है। हिन्दुस्तान से दूरभाष में वार्ता में उसने अपनी सफलता का श्रेय परिवार और शिक्षकों को देते हुए कहा कि भविष्य में भूगर्भ विज्ञानी अथवा प्रशासनिक सेवा में जाकर देश की सेवा करना चाहता हूं। करन की माता दीपा देवी आठ सालों से जैना गांव में ही आंगनबाड़ी कार्यकत्री हैं। दो बड़ी बहनें ममता और हेमा हल्द्वानी व नैनीताल में पढ़ाई व कोर्स कर रहीं हैं, जबकि छोटा भाई नाना के साथ रहकर बसोट में पढ़ता है। करन ने युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि आवेश और जल्दबाजी में कोई निर्णय लेने से बचने की जरूरत है। अभिभावकों को भी बच्चों की रूचि के विपरीत पढ़ाई में मनमाने विषय थोपने से बचना चाहिए। प्रधानाचार्या कंचन जोशी ने बताया कि करन हमेशा विद्यालय में अव्वल रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:interview of disttrict topper karan khulbe
धूमधाम से मनाया महर्षि महेश योगी जन्मशताब्दी कार्यक्रमसोमेश्वर में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का भव्य स्वागत