class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रीन सिटी पर मंथन करेंगे केंद्र व राज्य के अफसर

काशी को स्मार्ट सिटी के साथ-साथ ग्रीन सिटी बनाने पर मंथन करने के लिए नगर विकास मंत्री व शहरी विकास मंत्री के शीर्ष अधिकारी शनिवार को पहुंच रहे हैं। कमिश्नरी सभागार में दोपहर में नगर विकास मंत्री के साथ अधिकारी बैठक करेंगे। बैठक के बाद अधिकारी शहर में चल रहे विकास कार्यक्रमों व सफाई व्यवस्था का भी निरीक्षण करेंगे।अधिकारियों की मानें तो सोलर पॉवर जनरेशन प्लांट की तर्ज पर शहर हरियाली से हराभरा करने के लिए योजनाओं पर वन मंत्रालय काम कर रहा है। पिछले दिनों ऊर्जा राज्यमंत्री पीयूष गोयल जर्मनी की यात्रा कर कर लौटे हैं। वहां ऊन्होंने इस सम्बंध में तकनीकी पहलुओं पर अध्ययन किया। ऊर्जा राज्य मंत्री देश में भी व्यवस्था लागू करना चाहते हैं। वह योजना की शुरुआत बनारस से करने की रणनीति बना रहे हैं। मंत्रालय ने इसके लिए तैयारी भी शुरू कर दी है। तीन दिन पहले कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण से बातचीत में ऊर्जा राज्यमंत्री ने बनारस से योजना को लागू करने पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि योजना की शुरुआत सरकारी भवनों में पौधरोपण आदि कर हरा भरा किया जाएगा। पहले चरण में सोलर प्लांट के इस्तेमाल से ऊर्जा बचत पर काम किया जाएगा। इसके बाद अधिक से अधिक लोगों को इस्तेमाल के लिए जागरूक किया जाएगा। योजना को शहरी विकास कार्यक्रम के तहत लागू किया जाए। उन्होंने बताया सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत काशी को हरा भरा करने में मदद मिलेगी।इसी क्रम में शनिवार को शहरी विकास मंत्रालय के सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा, एडीशनल सचिव व स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के मिशन प्रभारी समीर शर्मा तथा संयुक्त सचिव व स्वच्छ भारत मिशन के प्रभारी प्रवीण प्रकाश आ रहे हैं। सभी शीर्ष अधिकारी कमिश्नरी सभागार में नगर विकास मंत्री व जिले के अधिकारियों के साथ बैठक कर ग्रीन सिटी योजना को लागू करने के सम्बंध में चर्चा करेंगे। शहरी विकास मंत्रालय के अधिकारी बैठक के बाद नगर का भ्रमण भी करेंगे। दौरे के दौरान वह हृदय के तहत अंतिम चरण में चल रहे दुर्गाकुंड के सुंदरीकरण के कार्यों का निरीक्षण करेंगे। बता दें कि पिछले दौरे पर प्रवीण प्रकाश दुर्गाकुंड तालाब पर प्रधानमंत्री के आगमन के बाबत तैयारी करने का निर्देश दिया था। माना जा रहा है कि सचिव व अतिरिक्त सचिव भी दुर्गाकुंड तालाब पर इसी सम्बंध में दौरा करेंगे। अधिकारी करसड़ा में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत प्रस्तावित ऊर्वरक प्लांट का भी निरीक्षण करेंगे। अधिकारियों की टीम गोइठहां एसटीपी के निर्माण की प्रगति भी देखेगी। गौदौलिया-दशाश्वमेध मार्ग को हेरिटेज जोन में विकसित करने के लिए मौके का भी मुआयना करेंगे। सीएसआर से घाटों पर लगी फ्लोटिंग जेटी के फायदे और उसकी उपयोगिता का भी हाल जानेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Center and state officers will churn on Green City
नर्सिंग की छात्राओं का हंगामा, चक्काजामजलस्तर में तेज बढ़ाव, गंगा सीढ़ियों की ओर