class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीडीओ व वीडीओ से मांगा स्पष्टीकरण

औरास ब्लॉक के गहरावां में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभार्थी से प्रधान पति द्वारा रिश्वत लेने के मामले में सोमवार को उस पर मुकदमा दर्ज होने के बाद बीडीओ व ग्राम विकास अधिकारी से जवाब तलब किया गया। निर्देश दिए गए कि सात दिनों के भीतर अपना स्पष्टीकरण दें।

प्रधान पति पर मुकदमा दर्ज कराने के बाद परियोजना निदेशक डीआरडीए एके पाण्डेय ने मंगलवार को खण्ड विकास अधिकारी सुषमा व ग्राम विकास अधिकारी मनोज कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी कर कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में लाभार्थी शाहिद से पहली किश्त में प्रधान पति ने नाजायज तरीके से रुपए ले लिए। दूसरी किश्त भेजने से पहले आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए था कि पहली किश्त की धनराशि का उपयोग सही तरीके से हो गया है कि नहीं। यदि लाभार्थी से बात की होती तो दूसरी किश्त में प्रधान पति पैसा मांगने की हिम्मत न करता और पहले वसूले गए रुपए की जानकारी भी लाभार्थी दे देता। दोनों अधिकारियों के शिथिल पर्यवेक्षण से लाभार्थी अपना आवास पूरा नहीं कर सका। ऐसे में दोनों अधिकारी सात दिन के भीतर अपना स्पष्टीकरण दें कि क्यों न आप लोगों के विरुद्व लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाए। पीडी ने बताया कि जवाब से संतुष्ट न होने पर उच्च अधिकारी दोनों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। बता दें कि गहरावां गांव निवासी शाहिद पुत्र जाहिद ने डीएम को प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया था। कि गांव के प्रधान पति ने प्रधानमंत्री आवास की प्रथम किस्त 40 हजार निकालने पर जबरदस्ती 8 हजार रुपया सुविधा शुल्क ले लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Explanation from BDO and VDO
लौह पुरुष को याद कर श्रद्धा सुमन किया अर्पितफाइलेरिया की दवाओं का वितरण 20 से होगा