class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक्शन में CM योगी:कानून से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं, संभाली कमान

yogi in gorakhpur

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कानून व्यवस्था से खिलवाड़ की इजाजत किसी को नहीं है। उन्होंने चेतावनी दी कि जिन लोगों की आदतें नहीं सुधरी हैं उनकी आदतें सुधारने के लिए बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल भी किए जाएंगे। योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखनाथ मंदिर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान ये बातें कहीं हैं। 

प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था के सवाल पर उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था पहले की तुलना में बहुत सुधरी है लेकिन अभी थोड़ी बहुत और सुधारने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा लेकिन कानून से खिलवाड़ की इजाजत भी किसी को नहीं होगी। पहले सरकार की कार्यप्रणाली के कारण दंगे होते थे, अपराध बढ़ता था। अपराधियों को संरक्षण प्राप्त होता था। अब ऐसा नहीं है। अब कहीं पर कोई ऐसा करने का करने का प्रयास कर रहा है तो सख्ती से उसे रोका जा रहा है।

उन्होंने कहा कि पुलिस का आचरण ब्रिटिश शासन जैसा नहीं होना चाहिए लेकिन अगर कोई संवेदनशीलता का गलत फायदा उठाने की कोशिश करेगा तो ये चीजें नहीं होने दी जाएंगी। सबसे ज्यादा पीड़ा कांशीराम की आत्मा को: बसपा में उठे विवाद पर सीएम ने कहा कि यह एक पार्टी का विवाद है। मुझे लगता है कि इस विवाद से सबसे ज्यादा पीड़ा मान्यवर कांशीराम की आत्मा को हो रही होगी। जिस उद्देश्य से उन्होंने बहुजन समाज का अभियान शुरू किया था वह अभियान अपने रास्ते से भटक गया है।

बसपा से निष्कासित नेता नसीमुद्दीन सिद्धीकी द्वारा जान का खतरा बताए जाने के सवाल पर योगी ने कहा कि प्रदेश में हर व्यक्ति की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है।

चंद्रप्रकाश के परिजनों से आज मिलेंगे : व्यापारी चंद्रप्रकाश टिबड़ेवाल की हत्या और लूट के मामले में उन्होंने कहा कि वह उनके परिजनों से मिलना चाहते थे। पता चला कि उनका परिवार महराजगंज गया है। मैंने उन्हें मिलने के लिए कल बुलाया है। शहीदों व उनके परिजनों को सम्मान देंगेसीएम ने कहा कि सरकार शहीदों और उनके परिजनों को सम्मान देगी।

सैनिक की शहादत किसी भी स्वाभिमानी समाज के लिए सर्वोच्च सम्मान हो सकता है। देवरिया के शहीद प्रेम सागर के परिवारीजनों को 26 लाख रुपये की सहायता दी गई। उनका स्मारक बनाने के साथ शहीद के नाम पर राजकीय बालिका इंटर कॉलेज खोला जाएगा। मैंने परिवार से मिलने का वादा किया था जिस निभाया। प्रदेश सरकार के मंत्री सूर्य प्रताप शाही शहीद के अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे।

सीएम ने कहा कि सरकार शहीदों और उनके परिजनों को सम्मान देगी। सैनिक की शहादत किसी भी समाज के लिए सर्वोच्च सम्मान हो सकता है। देवरिया के शहीद प्रेम सागर के परिवारीजनों को 26 लाख रुपये की सहायता दी गई। उनका स्मारक बनाने के साथ शहीद के नाम पर राजकीय बालिका इंटर कॉलेज खोला जाएगा।

सुबह सुबह गौसेवा की

सूबह सुबह गोरखपुर में गौशाला पहुंच गए और गायों की सेवा की। आज पूरे दिन वे गोरखपुर में कई तरह के काम करेंगे। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:up cm yogi takes charges of gorakhpur laws and says, nobody can play with it