class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादित बोल: स्कूल ना भेजने वाले अभिभावको को मारें 5-5 डंडे

omprakash Rajbhar

सूबे की मुख्यमंत्री योगी सरकार के एक मंत्री की जुबान ऐसी फिसली कि सुनने वाले दंग रह गए। पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने यहां एक कार्यक्रम में बच्चों को स्कूल न भेजने वाले अभिभावकों को थाने में पुलिस से 5 - 5 डंडे मरवाने की बात कह डाली। इतने पर ही नही रूके, बोले अब मैं मंत्री हूँ एफआईआर कराने के लिए दरोगा जी को पंहुचूंगा लेकर। अब अभिभावकों को लिखकर देना होगा कि हम बच्चे को भेजेंगे स्कूल।

उन्होंने कहा कि सुधार लाने के सारे तरीके उन्हे आते हैं।उन्होंने कहा कि स्कूल ने भेजने वाले माता-पिता पर जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज कराओ। पांच पांच दिन थाने में बिठाओ तभी सुधार होगा। छह महीने समझायेगे उसके बाद कार्रवाई करेगें। 

हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि एकल शिक्षा व्यवस्था से दूर होगी अमीरी गरीबी की गहरी खाई। गरीबों व विभिन्न लोगों के लिए सरकार द्वारा कल्याणकारी योजनाएं संचालित की गई है जिसका लाभ सभी लोग मिलकर उठाएं। 

घर-घर शिक्षा की अलख जगाये जब तक  घर घर शिक्षा नहीं होगी तब तक देश व समाज विकास नहीं करेगा। ये मंत्री खोड़ारे के घारीघाट के हकीकुल्लाह चौधरी इन्टर कालेज में आयोजित अति पिछड़ा वर्ग व अति दलित वर्ग सम्मेलन में आये थे। 

उन्होंने कहा कि यदि आपके घर के बगल का बच्चा पढ़ने नहीं जाता तो आप उनके माता पिता को बच्चे को स्कूल भेजने व शिक्षित करने के लिए प्रेरित करें। गौरा विधायक प्रभात कुमार वर्मा ने कहा कि गाैरा के विकास के लिए मैं पूरी तरह से प्रतिबंध हूं।  इस मौके पर राजेश राजभर, विक्रम बर्मा, अम्बुज पटेल, विन्देशवर बर्मा, रणजीत, नरसिंह,चन्द्र भान बर्मा, केशव प्रसाद वर्मा, रामफेर, रामनिवास, अभिमन्यु, घनश्याम गोस्वामी, पवन गोस्वामी, कनिक राम वर्मा, राम सुरेश, सहित कई लोग मौजूद रहे।

एसिड अटैक की धमकी के बाद छात्रा ने खाया जहर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Disputed Speech beat parents Who Do not Send their children to School
बेटियां अपनी सही बात के लिए आवाज उठाएं : स्वाति सिंहखुलासाः 'आधार' ने पकड़ा शिक्षकों का फर्जीवाड़ा, एक ही दस्तावेज पर दो जिलों में हो गई अध्यापकों की नियुक्ति