class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दस साल पहले शाहजहांपुर आए थे रामनाथ कोविंद

दस साल पहले शाहजहांपुर आए थे रामनाथ कोविंद

बिहार के मौजूदा राज्यपाल और भाजपा के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद दस साल पहले शाहजहांपुर आए थे। वह खिरनीबाग में पूर्व विधायक उमाशंकर शुक्ला के आवास पर कुछ घंटे रुके थे। इसके बाद वह रामचंद्र मिशन भी गए थे। उनके साथ उमाशंकर शुक्ला के बेटे वरिष्ठ अधिवक्ता विनय शुक्ला रहे थे। कोविंद के राष्ट्रपति का पद का प्रत्याशी बनाए जाने के बाद विनय शुक्ला बेहद खुश हैं, उन्होंने कोविंद को शुभकामनाएं दी हैं।

खिरनीबाग निवासी पूर्व विधायक उमाशंकर शुक्ला के बेटे विनय शुक्ला वरिष्ठ अधिवक्ता हैं। विनय शुक्ला बताते हैं कि आज से लगभग 10 वर्ष पूर्व की बात है। उस वक्त भाजपा के वरिष्ठ नेता सत्यभान सिंह भदौरिया का फोन उनके पास आया। भदौरिया ने विनय शुक्ला से कहा कि सुबह लखनऊ -दिल्ली मेल से राज्यसभा सांसद रामनाथ कोविंद आ रहे हैं। भदौरिया ने रामनाथ कोविंद को रिसीव करने की जिम्मेदारी विनय शुक्ला को दी। विनय शुक्ला सुबह उठे, रेलवे स्टेशन गए। ट्रेन आई, कोविंद को रिसीव कर वह अपनी कार से खिरनीबाग स्थित घर लेकर आए। विनय शुक्ला ने बताया कि वह पहले कभी रामनाथ कोविंद से नहीं मिले थे। उन्हें कोच नंबर मालूम था। ट्रेन आने पर उन्होंने अंदाजे से रामनाथ कोविंद को अपना परिचय दिया और साथ चलने को कहा। विनय शुक्ला बताते हैं कि उन्होंने रामनाथ कोविंद का ब्रीफकेस खुद ले लिया और कार में रखकर दिया। कार से विनय शुक्ला के घर आने के बाद रामनाथ कोविंद ने स्नान, ध्यान किया। उनकी पत्नी डॉ. तिलोतमा शुक्ला ने नाश्ता तैयार किया। नाश्ता करने के बाद रामनाथ कोविंद ने अखबार पढ़ा। फिर उन्होंने विनय शुक्ला से कहा कि वह रामचंद्र मिशन जाना चाहते हैं। विनय उन्हें रामचंद्र मिशन ले गए। रास्ते में विनय शुक्ला और रामनाथ कोविंद की कुछ राजनीतिक चर्चा भी हुई।

विनय शुक्ला बताते हैं कि उनका और रामनाथ कोविंद का तीन घंटे का साथ रहा। विनय बताते हैं कि रामनाथ कोविंद उस वक्त राज्यसभा सांसद थे। बाद में वह बिहार के राज्यपाल बने। विनय शुक्ला ने बताया कि सोमवार को उन्होंने टीवी देखा तो पता लगा कि रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनाए गए हैं। इस पर उन्हें बहुत खुशी हुई। टीवी देखने के बाद रामनाथ कोविंद के साथ बिताए पल ताजा हो गए। विनय बताते हैं कि उन्हें इस बात की खुशी है कि रामनाथ कोविंद जैसे बड़े व्यक्तित्व की मेहमानवाजी करने का उन्हें मौका मिला।

कोविंद को राष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाया ऐतिहासिक फैसला
पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती ने कहा कि भाजपा ने राष्ट्रपति पद के लिए बिहार के राज्यपाल रामनाथ किविंद को प्रत्याशी बना कर ऐतहासिक फैसला किया हे। उन्होंने कहा कि रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने से पूरे देश में बड़ा संदेश गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कोविंद को प्रत्याशी बना कर यह साबित कर दिया है कि वह सर्वजन समाज की पार्टी है।

पूर्व गृहराज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने बताया कि उनका अप्रैल में बिहार जाना हुआ था। उस दौरान वहां राज्यपाल रामनाथ कोविंद से मुलाकात हुई थी। उस वक्त कोविंद ने शिक्षा क्षेत्र में और सुधार के मसले पर स्वामी चिन्मयानंद से विस्तार से चर्चा की थी। स्वामी चिन्मयानंद ने बताया कि कोविंद बहुत विद्वान हैं। वह कानपुर देहात इलाके के रहने वाले हैं। पहली बार उत्तर प्रदेश से राष्ट्रपति पद के लिए प्रत्याशी चुना गया है, यह भी गर्व की बात है। उन्होंने कोविंद को शुभकामना दी और उम्मीद जताई अगले राष्ट्रपति के रूप में कोविंद ही शपथ लेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ramnath Kovind visits Shahjahanpur 10 years ago