class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी की सरकार हत्यारी-राजबब्बर

विशेष संवाददाता राज्य मुख्यालयप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने रविवार को यहां प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा है कि गोरखपुर के बी.आर.डी. कालेज में 70 बच्चों की मौत नहीं हत्या हुई है। यह हत्यारी सरकार है। मुख्यमंत्री से इस्तीफा देने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पर धारा 302 का मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।उन्होंने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के निर्देश पर पार्टी ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। हालांकि उन्होंने तारीख बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने इस मुद्दे पर दूसरी पार्टियों को भी साथ आने की अपील करते हुए कहा कि मानवता के मंच से वह यह कहना चाहते हैं कि मासूम बच्चों की मौत के मुद्दे पर साथ आएं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह कौन बताएगा कि मासूम बच्चों की हत्या हुई है या फिर मृत्यु। यह इसलिए भी शर्मनाक है क्योंकि इस काण्ड से 48 घंटे पहले खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में थे। अब 22 घंटे बाद मुख्यमंत्री ने चुप्पी तोड़ी है तो जांच कराने की बात कर रहे हैं। फैसला आने के बाद जांच की बात हो रही है।श्री बब्बर ने आरोप लगाया कि प्रदेश की बागडोर नाकाबिल लोगों के हाथ में है। सीएम और मंत्री कह रहे हैं कि आक्सीजन की कमी नहीं थी। डीएम आक्सीजन कम होने की बात कर रहा है। मुख्यमंत्री को कुर्सी पर पड़ने वाली तौलिया का रंग मालूम है कुर्सी के दायित्व नहीं। सरकार सिर्फ लीपापोती कर रही है। मौजूदा सरकार पुराने मामलों को उखाड़ कर आक्सीजन दे रही है लेकिन बच्चों के लिए आक्सीजन नहीं खरीदी जा रही। जो बच्चे बचे हैं उन पर भी नजर है। सरकार ने फरमान दिया है कि झण्डा न फहराने वालों पर नजर रखी जाएगी।प्रदेश अध्यक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि वह अपने नाना लाल बहादुर शास्त्री की गौरवशाली परम्परा पर कालिख लगा रहे हैं। जवाबदेही से बचने के लिए कह रहे हैं कि अक्सर अगस्त माह में मौतें होती हैं। बेहतर होगा कि वह नाना के नाम से खुद को अलग कर लें।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:up govt failed-rajbabbar
कायस्थ समाज का युवक-युवती परिचय सम्मेलनराष्ट्र गान के अभ्यास में जुटे हैं दरियाबाद के इस मदरसे के बच्चे