class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: इस हनुमान मंदिर में आने से पूरी होती है मनोकामना, तुलसीदास भी कर चुके हैं दर्शन

हनुमान मंदिर

यूपी की राजधानी लखनऊ के प्राचीनतम मन्दिरों में मेडिकल कालेज चौराहा स्थित छाछी कुआं हनुमान मन्दिर का भी स्थान है। श्रीराम चरित मानस के रचियता गोस्वामी तुलसीदास जी इस मन्दिर में आकर हनुमान जी के दर्शन कर चुके हैं। ऐसी मान्यता है कि यहां दर्शन करने भक्तों सभी मनोकामना पूरी होती है। मन्दिर की विशेषता है कि हनुमान जी की मूर्ति को सिर्फ छाछी कुआं के जल से ही स्नान कराया जाता है। 

कुएं से निकली थी बारह भुजी हनुमान जी की मूर्ति 

मन्दिर में स्थित राम दरबार में भगवान श्रीराम के चरणों के नीचे हनुमान जी की मूर्ति विराजमान है। मन्दिर के पुजारी कमलेश कुमार तिवारी ने बताया कि संवत 1584 में सिद्ध महात्मा परमेश्वर दास जी गोमती घाट पर भ्रमण कर रहे थे। उस समय यह इलाका जंगल और वीरान था। यहीं पर एक कुआं था। बाबा ने इसी कुएं के पास आसन लगा लिया और धुनी रमाई। बाबा यहां आराधना करने लगे।

एक बार जल निकालते समय उनका कमण्डल कुएं में गिर गया। काफी प्रयास के बावजूद नहीं मिला। फिर बाबा ने कुएं में कांटा डाल कर कमण्डल खींचा तो उसमें छाछ भरा था। साथ ही उसमें बारह भुजी हनुमान जी की मूर्ति निकली। बाबा ने मूर्ति को निकाल लिया और छाछ को कुएं में डाल दिया। छाछ डालते ही पूरा कुआं छाछ से भर गया। तभी से मन्दिर का नाम छांछी कुआं पड़ा।

वहीं बारह भुजी हनुमान जी मूर्ति को स्थापित किया गया। प्रतिदिन शृंगार में सिन्दूर व चमेली के तेल का लेप लगाया जाता है। प्रत्येक मंगलवार को विशेष शृंगार होता है। मन्दिर आने वाले भक्त मनौती मांगते हैं। मनौती पूरी होने पर भगवान का शृंगार कराते हैं। चोला चढ़ाते हैं और घंटी टांगते हैं।

बड़े मंगल पर सुबह 4 बजे खुल जाएगा मंदिर

मन्दिर में बड़े मंगल की तैयारी शुरू हो गई है। मन्दिर में रंगाई, पुताई व सफाई हो रही है। इस बार जेठ मास के चारों मंगल को मन्दिर सुबह चार बजे खुल जाएगा। पहले भगवान की आरती होगी, उसके बाद दर्शन का क्रम शुरू होगा। शाम सात से 10 बजे तक भजन कीर्तन व सुन्दरकांड  का पाठ होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tulsidas had come to Hanuman Temple for Darshan
सेबी कार्यालय पर निवेशकों ने प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा251 केन्द्रों पर होगी पॉलीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षा