class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खनन पट्टे चाहिए तो पहले ट्रेनिंग जरूरी

- खनिज में ई-निविदा का प्रशिक्षण 16 एवं 23 सितम्बर को प्रदेश के भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग ई-निविदा और ई-नीलामी की प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। इस ट्रेनिंग कार्यक्रम में ऐसे व्यक्ति और संस्थायें भाग ले सकेंगी जो खनन प्रक्रिया में शामिल होना चाहते हैं। खनिकर्म विभाग के निदेशक डा. बलकार सिंह के अनुसार यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 16 और 23 सितम्बर 2017 को लखनऊ के खनन निदेशालय भवन में आयोजित किया जाएगा। सुबह 10.30 से शाम 5.00 बजे तक दो सत्रों में आयोजित होगा। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए खनन विभाग के खान अधिकारी शैलेन्द्र सिंह को नोडल अधिकारी बनाया गया है। एमएसटीसी के अधिकारी अनिल वर्मा से सिस्टम कान्फिग्रेशन और पंजीकरण के बारे में जानकारी ली जा सकती है। खनन निदेशक ने बताया कि बालू, मोरम, बजरी के खाली खनन क्षेत्रों को नई उप्र खनिज परिहार नियमावली के तहत ई-निविदा, सह ई-नीलामी के जरिए खनन पट्टे देने की व्यवस्था की गई है। ई-निविदा, ई-नीलामी की पूरी प्रक्रिया आनलाइन की जा रही है। जिसके लिए राज्य सरकार ने एमएसटीसी (भारत सरकार का उपक्रम) को जिम्मेदारी दी है। आवेदन करने वालों को एमएसटीसी की वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण कराये बिना कोई भी टेंडर में हिस्सा नहीं ले सकते। निदेशक डा. सिंह ने बताया कि इस नीलामी में भाग लेने वालों को टाइप-3 साइनिंग सहित डिजिटल सिग्नेचर बनाना जरूरी है। इसके अतिरिक्त निविदादाता के पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, चरित्र प्रमाण पत्र भी होना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:training befire mining
दाखिले के बाद बीबीएयू जारी कर रहा प्रवेश नीतिगर्भवती महिलाओं को मिलेगा मातृ बंदन योजना से पोषण