class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुतुबपुर में संविदा लाइनमैन की खंभे में चिपक कर मौत

हिन्दुस्तान संवाद, कुतुबनगर (सीतापुर)
Sitapur, Qutubpur, contract, power worker, death, jam

शटडाउन लेकर लाइन सही करने के लिए खंभे पर चढ़े संविदा कर्मचारी की पोल से ही चिपक कर मौत हो गई। वह शटडाउन लेने के बाद खम्भे पर चढ़ कर काम कर रहा था, इसी दौरान आपूर्ति चालू कर दी गई। जिससे वह वहीं चिपक गया और उसकी मौत हो गई।
संविदा लाइनमैन की मौत की जानकारी पाते ही उसके परिवारीजन और अन्य लोग मौके पर पहुंच गए। आनन-फानन में सूचना विभाग व पुलिस को दी गई। थाना पुलिस तो मौके पर पहुंच गई, लेकिन कई घंटे के इंतजार के बावजूद कोई विभागीय कर्मचारी या अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा।
बताया जाता है कि पिसावां थाना क्षेत्र के गांव कल्यानपुर निवासी 22 वर्षीय दीपू पुत्र धनपाल देवगवां पावर हाउस पर संविदा लाइनमैन के पद पर काम करता था। शनिवार दोपहर लगभग दो बजे वह शटडाउन लेकर खानपुर की बिजली लाइन सही करने गया था। गांव के बाहर मजीद अली के मकान के सामने लगे ट्रांसफार्मर को सही करते समय अचानक आपूर्ति आ गई। शटडाउन के बावजूद छोड़ी गई बिजली आपूर्ति से वह ट्रांसफार्मर के पास ही चिपक गया। जब तक बिजली आपूर्ति ठप होती, उसकी मौत हो गई। मौत से हडकंप मच गया। आसपास के गांवों के लोग भी घटनास्थल पर जमा हो गए। हादसे की जानकारी थाना पुलिस व विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों को दी गई। थाना प्रभारी जयशंकर सिंह मौके पर पहुंच गए। कई घंटे बीत जाने के बाद भी विभागीय अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। संविदा लाइनमैन की मौत के बारे में जेई नीरज का कहना है कि वह लाइनमैन था। शटडाउन भी लिया गया था। बिजली आपूर्ति अचानक कैसे शुरू हो गई, इसकी जांच की जा रही है। 

मुआवजे के लिए लोगों ने सड़क जाम की
आक्रोशित लोगों ने सड़क पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पाते ही एसडीएम मिश्रिख प्रभाकांत अवस्थी और पुलिस क्षेत्राधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए। लोगों को समझाने की काफी कोशिश की लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे। जाम लगाए लोग बिजली विभाग के बड़े अधिकारी को मौके पर बुलाने की मांग कर रहे थे। उनका यह भी कहना था कि मृतक के परिवारीजनों को मुआवजा भी दिया जाए। फिलहाल बिजली विभाग का कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा था।
 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sticking to death in contractual lineman's pillars
From around the web