class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानसिक रोगी को बचाने ट्रेन से कूदा भाई, दोनों की मौत

लखनऊ-रायबरेली रेलमार्ग पर कन्नावा गांव के पास हुआ हादसा पिता बड़े बेटे के साथ विक्षिप्त छोटे बेटे का इलाज कराने कुंडा जा रहे थे बछरावां (रायबरेली) हिन्दुस्तान संवाद रायबरेली-लखनऊ रेलमार्ग पर बछरावां थाना क्षेत्र के कन्नावां गांव के पास चलती पैसेंजर ट्रेन से मानसिक रोगी युवक ने छलांग लगा दी। उसे बचाने के चक्कर में उसका भाई भी ट्रेन से कूद गया। अगले स्टेशन पर ट्रेन के पहुंचते ही पिता ने पुलिस को सूचना दी और दूसरी ट्रेन से वापस घटनास्थल पर पहुंचा तो दोनों बेटों के शव पड़े मिले। गुरुबख्शगंज थाना क्षेत्र के सुखई खेड़ा मजरे सतांव का चन्द्रपाल मानसिक रोगी बेटे कृष्णकांत (18) का इलाज कराने के लिए बड़े बेटे निशिकांत (23) के साथ 54378 बरेली-प्रयाग ट्रेन से मनगढ़ कुण्डा जा रहा था। ये लोग बछरावां रेलवे स्टेशन से शनिवार देर शाम ट्रेन पर चढ़े थे। थाना क्षेत्र के कन्नावां गांव के पास रात करीब दस बजे चलती ट्रेन से कृष्णकांत ने छलांग लगा दी। उसे बचाने के के लिए बड़ा भाई निशिकांत भी कूद गया। चलती ट्रेन से दोनों बेटों के कूदते ही ट्रेन के डिब्बे में हड़कंप मच गया। ट्रेन के कुंदनगंज स्टेशन पर पहुंचते ही पिता ने रेलवे पुलिस को सूचना दी। रेलवे पुलिस ने सूचना थाने को दी। उधर रेलवे पुलिस ने लखनऊ जा रही दूसरी ट्रेन से चन्द्रपाल को घटनास्थल पर भेजा। दोनों बेटों के शव खैरहनी गांव के पास पड़े हुए थे। बेटों के शवों को देखकर पिता बेहोश हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Save the mental patient brother jumped from the train, both died
लविवि सेंट्रल मेसऑपरेशन मुस्कॉन पर लगा ब्रेक, बालगृह हुआ फुल