class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जल निगम के पेंशनर्स का सत्याग्रह आज

उप्र जल निगम पेशनर्स एसोसिएशन मंगलवार को जल निगम मुख्यालय पर सत्याग्रह आंदोलन करेंगे। तीन माह से पेंशन न मिलने, चार वर्षों से बकाया ग्रेच्युटी, नगदीकरण आदि का भुगतान न होने से उनमें नाराजगी है। संगठन के अध्यक्ष राम अधार पाण्डेय व महामंत्री गिरीश कुमार वर्मा ने कहा कि जल निगम के कर्मियों व पेंशनर्स की एक हजार करोड़ से ज्यादा बकाया लम्बित हो चुका है। जल निगम प्रशासन व शासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बकाया भुगतान न होने से बूढ़े हो चुके पेंशनर्स अपना इलाज नहीं करा पा रहे हैं। कर्ज में डूब चुके हैं। जल निगम प्रशासन से कई बार गुजारिश की जा चुकी है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अब आंदोलन करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। -------------- सेवा बहाली के लिए धरना लखनऊ। सेवा से निकाले गए जल निगम के संविदा कम्प्यूटर आपरेटरों का जल निगम निगम मुख्यालय पर सातवें दिन धरना जारी रहा। कहा कि जब तक सेवा बहाली नहीं हो जाती धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। आल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) के बैनर तले सोमवार के धरने की अध्यक्षता एटक की जिला इकाई के अध्यक्ष रामेश्वर प्रसाद यादव ने की। उन्होंने कहा कि लम्बे समय तक सेवा देने के बाद अचानक सेवा समाप्त कर दी गई। ऐसे में कम्प्यूटर आपरेटरों का परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि निकाले गए कर्मचारियों की पहले सेवा बहाल की जाए। कार्यदायी संस्था से हटकार कर्मचारियों को सीधे जल निगम में संविदा पर तैनाती दी जाए। उसके बाद उनको विनियमतीकरण किया जाए। इस मौके पर जल निगम में लाल झण्डा मजदूर यूनियन के हयात सिंह रावत, मनोज कुमार, एटक के जिला महामंत्री संतोष कुमार, उप्र प्राइवेट वाहन चालक यूनियन के रमेश कश्यप, बिजली विभाग से केएस रावत, नगर निगम से विमल पाण्डेय आदि ने संबोधित किया।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Satyagraha of pensioners of Jal Nigam today
अरुणिमा के जन्मदिन पर विकलांग महिलाओं का सम्मानलोहिया अस्पताल में बिजली जाने से मरीज हलकान