class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब कम खर्चे में बनेगा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे

राज्य मुख्यालय। विशेष संवाददातालखनऊ से गाजीपुर तक बनने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की लागत अब 39. 17 करोड़ रुपये प्रति किमी होगी। पिछले साल इसी प्रोजेक्ट के लिए 42.88 करोड़ रुपये प्रति किमी का हिसाब लगाया गया था। उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के सीईओ व पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी का कहना है कि अब यूपीडा बालू व पत्थर की खदानें ही खुद आवंटित करा कर निर्माण सामग्री डेवलपर को देगा। सभी सामग्रियों की रायल्टी की धनराशि सीधे सरकार के पक्ष में जमा करने के बारे में खनन विभाग से सहमति हो गई है। परियोजना के लिए जरूरी निर्माण सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित हो सके और राजस्व का नुकसान भी न हो। इससे प्रोजेक्ट के लिए टेंडर की लागत में और कमी आएगी। असल में पिछली सरकार में यह प्रोजेक्ट बनाया गया। उसमें एक्सप्रेस वे 348.10 किमी में लखनऊ से बलिया तक बनना था। बाद में बलिया के बजाए गाजीपुर कर दिया गया। इस कारण पूरी परियोजना की लागत 22313.77 करोड़ हो गई। पिछली सरकार में एक्सप्रेस वे के सिविल कार्यों की निर्माण लागत 40.07 करोड़ रुपये प्रति किमी आती थी। अब नई सरकार ने प्रोजेक्ट का दुबारा आकलन किया और उस वक्त की जारी टेंडर प्रक्रिया को निरस्त कर दिया। सरकार ने यूपीडा से कहा कि वह परियोजना के विभिन्न पैकेजों की अनुमानित लागत में मित-व्ययता के नजरिए से संशोधन करे। इसके बाद संशोधित लागत 13349.51 करोड़ रुपये हो गई। इसके अनुसार प्रति किमी निर्माण लागत 39.17 करोड़ रुपये हो गई। यूपीडा का कहना है कि वैसे लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर लगभग 2919 करोड़ रुपये का भूमि अधिग्रहण का खर्च आया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:poorvanchal express way will built in less cost
स्कूलों में नहीं थम रहा डेंगू लार्वा मिलने का सिलसिला15 हजार रुपए की ठगी