class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहारागंज की पार्किंग पर पुलिस की दबंगई

अवैध वसूली पर नगर निगम ने खुद संभाली कमान से बौखलाई पुलिसचार कर्मचारियों को थाने पर बैठाया, एसएसपी तक पहुंचा मामलालखनऊ। प्रमुख संवादाता सहारागंज के सामने पार्किंग में चल रही अवैध वसूली बंद करने के लिए नगर निगम ने खुद संभाली तो पुलिस ने दबंगई शुरू कर दी। पार्किंग संभाल रहे नगर निगम के कर्मचारियों को पकड़कर थाने पर बैठा लिया। मामला नगर आयुक्त के संज्ञान में आया। उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पुलिस की दबंगई की जानकारी दी है।दोगुना वसूली पर निरस्त हुआ ठेकासहारागंज के सामने पार्किंग ठेके पर थी। पुलिस की मिलीभगत से फुटपाथ पर निर्धारित दूरी से ज्यादा जगह घेरकर पार्किंग चलाई जा रही थी। इसके अलावा ठेकेदार दोगुना पार्किंग शुल्क भी वसूली रहा था। शिकायत मिलने पर नगर निगम ने उसे कई बार नोटिस जारी की। बाद में जुर्माना भी लगाया। ठेकेदार ने न तो नोटिस का जवाब दिया और न जुर्माना जमा किया। लिहाजा नगर निगम ने पार्किंग का ठेका निरस्त कर खुद ही पार्किंग का जिम्मा संभालने का फैसला किया।नगर निगम ने संभाली पार्किंग दो दिन पहले कार्यदाई संस्था के कर्मचारियों को वहां नियुक्त किया गया। फुटपाथ पर दो लाइन में वाहनों को खड़ा किया गया था। नगर निगम को पार्किंग खुद संभालना पुलिस को नागवार गुजर रहा है। सोमवार को दो पुलिसकर्मी वहां पहुंचे और सिर्फ एक लाइन में गाड़ी खड़ा करने की चेतावनी देने के साथ चार कर्मचारियों इमरान, प्रमोद, फुकरान व सुभम को पकड़कर थाने पर बैठा लिया। नगर आयुक्त को दी जानकारीपर्किंग स्थल पर मौजूद अन्य कर्मचारी डरकर सिर्फ एक लाइन में ही पार्किग लगवाना शुरू कर दिया, जबकि दूसरी ओर के पार्किंग स्थल पर ठेकेदार द्वारा दो लाइन में वाहन खड़े किए जा रहे थे। पुलिस की दबंगई की जानकारी नगर निगम के अधिकारियों को हुई तो वह पार्किंग स्थल पर पहुंचे और घटना की पूरी जानकारी ली। नगर आयुक्त को घटनाक्रम की जानकारी दे दी गई है। उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को स्थिति से अवगत करा दिया है।--------पार्किंग में दखल का अधिकार पुलिस को किसने दियापार्किंग व्यवस्था नगर निगम के जिम्मे है। फुटपाथ पर कितनी दूरी पर पार्किंग लगेगी यह भी नगर निगम ही तय करता है। पार्किंग स्थल पर दखलअंदाजी का अधिकार पुलिस को किसने दिया। अब तक ठेकेदार तीन लाइन में पार्किंग लगाकर अवैध वसूली कर रहा था तब पुलिस को नहीं दिखाई दिया। नगर निगम ने पार्किंग व्यवस्था खुद संभाल ली तो पुलिस को परेशानी होने लगी। घटनाक्रम से नगर आयुक्त को अवगत करा दिया गया है। अशोक सिंह, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी व जोनल अधिकारी नगर निगम।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police pressure on Saharanaganj parking
पहला वोट डालने के लिए नए विधायकों की खुशी तो देखते बनती थी..पर्सनल आईडी पर टिकट बनाने वाला दलाल को आरपीएफ ने पकड़ा