class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम के काफिले की फुलप्रूफ सुरक्षा बनी चुनौती

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो दिनी कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काफिले की फुलप्रूफ सुरक्षा पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है। खुफिया एजेंसियों की आशंकाओं के आधार पर सड़क मार्ग से उनकी यात्रा के दौरान मुख्य सड़कों से जुड़ी सभी गलियों में आवागमन बंद किया जाएगा। वैसे तो एसपीजी के सुझावों और देश व प्रदेश की खुफिया एजेंसियों के इनपुट को ध्यान में रखते हुए पर्याप्त सुरक्षा प्रबंध किए जा रहे हैं लेकिन सड़क मार्ग पर अचानक अवरोध आने की आशंका शासन-प्रशासन को परेशान किए हुए है। लखनऊ विश्वविद्यालय के सामने पिछले दिनों मुख्यमंत्री के काफिले के साथ हुई घटना को देखते हुए यह आशंका और बलवती हो गई है। गृह विभाग के प्रवक्ता के तौर पर प्रेस ब्रीफिंग में आईजी लोक शिकायत वीएस मीना ने स्वीकार किया कि इस आशंका देखते हुए अलग से प्रबंध किए जा रहे हैं। ऐसी सभी गलियों में पुलिसकर्मी रस्से लगाकर आवागमन रोकेंगे, जो गलियां प्रधानमंत्री के यात्रा मार्ग पर आकर मिलती हैं। प्रधानमंत्री 20 जून को सीडीआरआई के नए परिसर से डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय के नए परिसर तक सड़क मार्ग से जाएंगे। सूत्रों के अनुसार रमाबाई अंबेडकर मैदान में योग दिवस पर होने वाले कार्यक्रम में जुटने वाली भीड़ का प्रबंधन भी पुलिस के लिए चुनौती है। रिहर्सल के दौरान सामने आई समस्याओं के आधार पर 21 जून को की जाने वाली व्यवस्थाओं में कुछ तब्दीली की गई है। प्रशासन योग के लिए आने वाले लोगों खासकर बच्चों की सुरक्षा को लेकर खासा फिक्रमंद है। प्रशासन ने स्कूलों को स्पष्ट हिदायत भी दी है कि कार्यक्रम में 15 वर्ष के कम उम्र के बच्चों को कतई न लाया जाए।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM secuirty become challenge for Police