class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोरी हुए चेकों से जालसाजों ने निकाले 3.5 लाख रुपए

पीजीआई थाने में दर्ज हुई एफआईआर लखनऊ। निज संवाददाता एसजीपीजीआई कर्मी के चोरी हुए चेकों का जालसाजों ने इस्तेमाल कर खाते से साढ़े तीन लाख रुपए निकाल लिए। खाते से रुपए निकाले जाने की जानकारी होने पर पीजीआईकर्मी बैंक पहुंचा। पड़ताल की तो राजस्थान में चेक भुनाए जाने की जानकारी मिली। पीड़ित ने पीजीआई थाने में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराई है। सुरेशचंद्र शर्मा पीजीआई में कार्यरत हैं। सुरेश ने बताया कि उनके भाई लीला राम का एसबीआई में सेविंग एकाउंट है। कुछ वक्त पहले उनके पीजीआई कैम्पस स्थित घर में चोरी हुई थी। वारदात के दौरान चोरों ने लीला राम शर्मा के साइन किये हुए दो चेक भी चोरी किए थे। जिस पर चोरी की सूचना पीजीआई थाने पर दी गई थी। वहीं एसबीआई मैनेजर को भी साइन किए हुए चेक पर स्टॉप पेमेंट में डालने के लिए कहा था। पर,ऐसा नहीं हुआ। इस बीच लीला राम पासबुक में इंट्री कराने बैंक गए तो खाते से 3.50 लाख रुपए निकाले जाने की बात पता चली। वहीं जालसाजों ने एक दूसरा चेक भी लगाया था। जो रकम नहीं होने के चलते बाउंस हो गया था। लीला के मुताबिक बैंक अधिकारी से जानकारी करने पर पता चला कि चोरी हुई चेक अलवर राजस्थान निवासी मोहनलाल शर्मा ने अपने खाते में लगाई थी। पीड़ित ने पीजीआई थाने में मोहन लाल व उसके भाई मुकेश शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pgi fraud
शिक्षक संघ ने केंद्र सरकार के आरटीई एक्ट का स्वागत कियाडग्गामार बस जब्त करने पर यात्रियों ने किया हंगामा