class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना कनेक्शन के पंडालों में नहीं जलेगी बिजली

दुर्गा पूजा, दशहरा मेला, रामलीला के लिए अस्थाई कनेक्शन की मांग बढ़ी लखनऊ। कार्यालय संवाददातादुर्गा पूजा, दशहरा मेला, रामलीला आदि के लिए अस्थाई बिजली कनेक्शन की मांग बढ़ गई है। शहर के विभिन्न इलाकों में मां दुर्गा की प्रतिमा रखने के लिए पंडाल सजाने का काम शुरू हो गया है। वहीं लेसा ने कनेक्शन न लेने पर पंडाल में बिजली न जलाने की बात कही है। शारदीय नवरात्र में नौ दिन तक मां दुर्गा की पूजा की जाती है। मां की प्रतिमा रखने के लिए पंडाल सजाए जा रहे हैं, कुछ पंडाल को आकर्षक रुप से सजा भी दिया गया है। हर बार पंडाल समिति के लोग केबल जोड़कर बिजली जलाते हैं, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। पंडाल समिति को बिजली जलाने के लिए अस्थाई कनेक्शन लेना होगा। कनेक्शन न लेने पर चोरी का मुकदमा पंजीकृत किया जा सकता है। मुख्य अभियंता आशुतोष कुमार ने बताया कि पंडाल में बिजली जलाने के लिए मूर्ति समिति के लोग अस्थाई कनेक्शन ले लें। 20 किलोवाट लोड कनेक्शन के लिए पांच हजार रुपये एक दिन के लिए 20 किलोवाट लोड अस्थाई बिजली कनेक्शन के लिए पांच हजार रुपये जमा होगा। इसके अलावा 1150 रुपये विद्युत सुरक्षा निदेशालय में बैंक चालान जमा करना होगा। उन्होंने बताया कि अस्थायी कनेक्शन के लिए आवेदन करने के बाद अगर उपभोक्ता जरूरी कागजात जमा कराने के साथ ही डिमाड नोट का भुगतान कर देगा तो उसे उसी दिन बिजली का कनेक्शन दे दिया जाएगा। आमतौर पर इसमें तीन से पांच दिनों का वक्त लगता है। त्योहार के दिनों में कई तरह के कार्यक्रम आयोजित होते हैं। इसलिए तत्काल कनेक्शन देने का फैसला किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news
विज्ञान की छोटी पुस्तकें सरल भाषा में लिखी जाएंमुखिया बदलते ही पटरी पर लौट रही सिटी बसों की सेवाएं