class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑक्सीजन मास्क हटने के बाद थमी मासूम की सांसें

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता बलरामपुर अस्पताल में ऑक्सीजन मास्क हटने के बाद बच्चे की सांसें थम गई। परिवारीजनों का आरोप है कि सफाई के लिए बेड हटाया गया। इस दौरान ऑक्सीजन मॉस्क हटा दिया गया। इसकी वजह से बच्चे को सांस लेने में तकलीफ बढ़ गई। 10 मिनट तक बच्चे बिना ऑक्सीजन मॉस्क के तड़पता रहा। इस दौरान मासूमों की सांसें थम गई। सीतापुर निवासी शकूर (आठ) को बेहोशी की हालत में बलरामपुर अस्पताल लाया गया था। कुछ रोज पहले उसके पैर पर गर्म पानी गिर गया था। स्थानीय डॉक्टरों से इलाज कराया। डॉक्टर की दवा खाने के बाद शकूर बेहोश हो गया। उसे गंभीर हाल में शुक्रवार को बलरामपुर अस्पताल के बाल रोग विभाग में भर्ती कराया गया। रविवार को दोपहर वार्ड की सफाई हो रही थी। फर्श पर पड़े पानी हटाने के लिए शकूर का बेड भी खिसकाया गया। शकूर को लगे मास्क की पाइप छोटी थी। परिवार की सदस्य शमीमो का आरोप है कि सफाई के लिए बच्चे के चेहरे पर लगा मास्क हटा दिया गया। ऑक्सीजन हटते ही उखड़ने लगी सांसें ऑक्सीजन मास्क हटते ही शकूर की सांसे उखड़ने लगी। शमीमो ने बताया कर्मचारी से मास्क लगाने की गुहार लगाई लेकिन सुनवाई नहीं हुई। बिना ऑक्सीजन बच्चा तड़पने लगा। कुछ ही देर में बच्चे की सांसें थम गई। परिवारीजनों ने मास्क हटने की वजह से बच्चे की मौत का आरोप लगाया। हालांकि अस्पताल प्रशासन का कहना है कि बच्चे का ऑक्सीजन मास्क नहीं हटाया गया। बच्चे की हालत गंभीर थी। बच्चे को बचाने का पूरा प्रयास किया गया।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news
अब इलाज के लिये बीस किलोमीटर दूर नही जाना पड़ेगाश्रम विभाग की महिला कर्मचारी ने लगाई फांसी