class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मदरसों ने 15 तक अपलोड नहीं कि जानकारी तो मान्यता होगी समाप्त

जिन मदरसों ने अभी तक नए पोर्टल पर अपनी जानकारी अपलोड नहीं की है वह 15 अक्तूबर तक अवश्य अपलोड करा दे। जिन मदरसों द्वारा इस पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन नहीं कराया जाता है तो ऐसे मदरसे अस्तित्व में नहीं माने जाएंगे। 15 तारीख के बाद ऐसे मदरसों की मान्यता स्वत: ही निरस्त मानी जाएगी।

जिला समाज कल्याण अधिकारी बालेन्दु कुमार द्विवेदी बताते हैं कि नए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया में सभी अनुदानित, गैर अनुदानित, अरबी-फारसी मान्यता प्राप्त मदरसे शामिल हैं। इन सभी मदरसों को अपनी जानकारी madarsabord.upsdc.gov.in पर अपलोड करनी है। अभी तक 220 मदरसों में से केवल 148 ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। इनमें से 93 को अंतिम रूप से लॉक किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि जिन मदरसों ने पोर्टल पर अपना विवरण अपलोड कर डाटा फ्रिज कर दिया है। उन्हें अपने सभी अभिलेखों की प्रमाणित कॉपी अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय में जमा करनी होगी। जिससे इनका परीक्षण कर डिजटल हस्ताक्षर के बाद रजिस्ट्रार की आईडी पर आगे भेजा जा सके। अभी तक मात्र पांच मदरसों ने हार्ड कॉपी जमा की है। 15 तक पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन न करने वाले मदरसों की मान्यता निरस्त मानी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:madarsa
चंदा जइहो बिरहन के देश...बहराइच के गांव में मिला तेंदुए का बच्चा भेजा गया लखनऊ