class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लखनऊ : नए सिरे से संजोई जाएगी मीर की धरोहर, दोबारा लगाने के लिए हटाया गया मीर तकी मीर के नाम का पत्थर

cleaning, brick

‘अब तो चलते हैं बुतकदे से ऐ मीर...
फिर मिलेंगे गर खुदा लाया...’
मीर तकी मीर का कहा यह शेर शक्ल लेता सा लगा जब उनके नाम का पत्थर सिटी स्टेशन के पास वाले तिकोना पार्क से हटाया गया। देखने वालों को मायूसी हुई कि इतने बड़े शायर का निशां शहर से यूं गायब हो जाएगा क्या...। 
चूंकि सोशल मीडिया का दौर है तो यह ट्रेंड भी हुआ कि अवध के अदब को ऊंचाइयों तक ले जाने वाले शायर को ऐसे कैसे भुलाया जा सकता है, उसके नाम को संभाल कर क्यों नहीं रखा जा रहा। मगर यहां बात मायूसी की कतई नहीं थी क्योंकि मीर फिर इसी बुतकदे में मिलेंगे...और सिटी स्टेशन, तिकोना पार्क उन्हीं के नाम से जाना जाएगा। 

संवारा जा रहा पार्क 
दरअसल, नगर निगम की ओर से इस पार्क को नए सिरे से संवारने की कवायद चल रही है। इसी के चलते पार्क के पास लगा मीर के नाम का पत्थर वहां से हटा दिया गया। पत्थर यूं भी बहुत अच्छी हालत में नहीं था तो इसे भी दोबारा बनाया जा रहा है। हालांकि नगर निगम की ओर से इस बारे में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है और खुद नगर आयुक्त उदयराज सिंह भी मामले पर बात करने से बच रहे हैं। मगर सूत्रों की मानें तो पार्क को फिर से संवार कर मीर की यादों को नए सिरे से संजोया जाएगा और चूंकि इस बारे में तमाम तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं। सोशल मीडिया पर ट्रेंड किया जा रहा है, इसीलिए नगर निगम की ओर से फिलहाल कुछ बताया नहीं जा रहा। वैसे, बताया जा रहा है कि नाले की सफाई के दौरान वहां लगा क्षतिग्रस्त मीर तकी मीर मार्ग के नाम का पत्थर उखड़ गया था।

पहले से बुरे हालात में है पार्क
लखनऊ के नवाब मसूद अब्दुल्लाह बताते हैं कि पार्क में पहले मीर की याद में एक किताब और कलम बनाई गई थी। उनके नाम का पत्थर भी लगा था लेकिन काफी अरसा हुआ, वह किताब-कलम देखरेख की कमी के चलते हट गई। पत्थर भी अरसा पहले काफी क्षतिग्रस्त हो चुका था। 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lucknow: A stone named Mir Taki Mir
रायबरेली  : डीआईओएस की पिटाई में कालेज प्रबंधक गिरफ्ताररणजी ट्रॉफी : जीत का इरादा लेकर यूपी की टीम पहुंची हैदराबाद