class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कायस्थ समाज के लिये उल्लेखनीय कार्य करने वालों का सम्मान आज

-मोती महल लॉन में कायस्थ समाज का महासमागम, गृहमंत्री लेंगे भाग

-गृहमंत्री राजनाथ सिंह होंगे मुख्य अतिथि, ओम माथुर भी रहेंगे उपस्थित

-केन्द्रीय राज्य मंत्री जयंत सिन्हा व कैबिनेट मंत्री भी पहुंचेंगे कार्यक्रम में

कायस्थ समाज का महासमागम राजधानी में शनिवार को मोतीमहल लॉन में होगा। प्रदेश भर के लोग इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। कायस्थ समन्वय समिति की ओर से होने वाले आयोजन में मेधावियों के साथ समाज के लिये उल्लेखनीय कार्य कर चुके लोगों का मरणोपरांत सम्मान भी दिया जायेगा।

यह पहला मौका है जब समाज के लोग एक मंच के नीचे बड़ी संख्या में दिखाई पड़ेंगे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि गृहमंत्री राजनाथ सिंह होंगे। उनके साथ इस कार्यक्रम की शोभा ओम माथुर और केन्द्रीय राज्य मंत्री जयंत सिन्हा भी बढ़ायेंगे। समिति की ओर से कार्यक्रम की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मोतीमहल लॉन को पूरी तरह आयोजन के लिये तैयार किया गया है। दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक चलने वाले कार्यक्रम की शुरुआत वृंदावन धाम से पधार रहीं भजन गायिका अलका गोयल करेंगी। अध्यक्ष ओपी श्रीवास्तव के मुताबिक प्रचार वाहनों के माध्यम से लखनऊ के लोगों से अपील की गई है कि वो इस कार्यक्रम में पहुंचकर इसे सफल बनाये। प्रदेश के अन्य जिलों से भी समाज के लोगों की आने की संभावना जताई जा रही है।

-----------------------------

डॉ एससी राय, भइया जी, विनोद श्रीवास्तव और राजीव कुमार को दिया जायेगा सम्मान

समाज का मान बढ़ाने और उल्लेखनीय काम करने वाले पूर्व मेयर डॉ एससी राय, समाजसेवी भइया जी, प्रज्ञा इंटरनेशनल स्कूल के मालिक रहे विनोद श्रीवास्तव और वास्तुविद राजीव कुमार को मरणोपरांत सम्मान से नवाजा जायेगा। यह सम्मान इन विभूतियों की स्मृति में इनके परिजनों को दिया जायेगा।

---------------------------------------

मेधावियों में मेडिकल कॉलेज के छात्र-छात्रायें

कार्यक्रम में मेधावी सम्मान समारोह में मेडिकल कॉलेज की प्रियांशी स्वरूप, साहिल माथुर, दीक्षा श्रीवास्तव, आशुतोष श्रीवास्तव ओर लविवि की सुदीक्षा श्रीवास्तव, आवृति श्रीवास्तव, शिवांगी बहादुर, अभिषेक कुमार को भी सम्मानित किया जाएगा।

--------------------------------------

प्रमुख मांगें जो रखी जायेंगी

-लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर एक उच्च शिक्षण संस्थान खोले जाने

-समाज के लोगों को अधिक से अधिक सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाना

-महापुरुषों के नाम पर चौराहों, सड़कों और स्टेशनों का नामकरण

------------------------------------

ब्रह्मा जी ने अपनी काया की सम्पूर्ण अस्थियों से बनाया

कायस्थ भारत में रहने वाले सवर्ण हिन्दू समुदाय की एक जाति है। गुप्तकाल के दौरान कायस्थ नाम की एक उपजाति का उदभव हुआ। पुराणों के अनुसार कायस्थ प्रशासनिक कार्यों का नर्विहन करते हैं। हिंदू धर्म की मान्यता है कि कायस्थ धर्मराज श्री चत्रिगुप्त जी की संतान हैं तथा देवता कुल में जन्म लेने के कारण इन्हें ब्राह्मण और क्षत्रिय दोनों धर्मों को धारण करने का अधिकार प्राप्त है। वर्तमान में कायस्थ मुख्य रूप से बिसारिया, श्रीवास्तव, सक्सेना,निगम, माथुर, भटनागर, लाभ, लाल, कुलश्रेष्ठ, अस्थाना, कर्ण, वर्मा, खरे, राय, सुरजध्वज, विश्वास, सरकार, बोस, दत्त, चक्रवर्ती, श्रेष्ठ, प्रभु, ठाकरे, आडवाणी, नाग, गुप्त, रक्षित, बक्शी, मुंशी, दत्ता, देशमुख, पटनायक, नायडू, सोम, पाल, राव, रेड्डी, मेहता आदि उपनामों से जाने जाते हैं। वर्तमान में कायस्थों ने राजनीति और कला के साथ विभन्नि व्यावसायिक क्षेत्रों में सफलतापूर्वक वद्यिमान हैं। वेदों के अनुसार कायस्थ का उद्गम ब्रह्मा ही हैं। उन्हें ब्रह्मा जी ने अपनी काया की सम्पूर्ण अस्थियों से बनाया था, तभी इनका नाम काया+अस्थि = कायस्थ हुआ।

नोट.............इनकी फोटो भी दी है

-पूर्व मेयर स्व. डॉ एससी राय

-समाजसेवी स्व. भइया जी

-प्रज्ञा इंटरनेशनल स्कूल के मालिक रहे स्व. विनोद श्रीवास्तव

-वास्तुविद स्व. राजीव कुमार समाज को मान बढ़ाने वाले डॉ एससी राय और भइया जी होंगे सम्मानित

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko
गोसाईगंज में आज गुल रहेगी बिजलीप्रदेश के 41 प्रशिक्षु पीसीएस को मिली नियमित तैनाती