class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुस्तक मेला: किताबों से सुनते आजादी और वीरों की कहानी

हर स्टाल पर उपलब्ध है आजादी और वीरों की दास्तां लखनऊ। निज संवाददाता देश के वीरों की आजादी की कहानी हर किसी को कहना और हर एक को सुनना अच्छा लगता है। आजादी का संग्राम कैसे शुरू हुआ, कहां से शुरू हुआ, किसने बिगुल बजाया, आजादी के मतवालों की क्या कहानी थी? ऐसे तमाम सवाल के जवाब रविवार को मोती महल लॉन में लगे राष्ट्रीय पुस्तक मेले में लोगों ने किताबों के माध्यम से लिए। स्वतंत्रता दिवस आने वाला है तो देशभक्ति के रंग हर तरफ देखे जा सकते हैं। पुस्तक मेला भी इससे रंग से अछूता नहीं हैं क्योंकि आजादी की सबसे प्रमाणिक बात किताबी संसार में उपलब्ध है। इसलिए आजादी के वीरों और आजादी से जुड़ी बातें जानने पाठक पुस्तक मेले का रुख कर रहे हैं। स्वतंत्रता दिवस की बेला पर यहां मोतीमहल वाटिका में चल रहा राष्ट्रीय पुस्तक मेले की किताबें अपने भीतर आजादी के संघर्ष, अनेक क्रान्तिकारियों की गाथाओं के चटख रंग बयां करती दिख रही हैं। पुस्तक मेले में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का इतिहास, भारत में अंग्रेजी राज, मैं सुभाष बोल रहा हूं, वीर सावरकर,भगत सिंह के पत्रज्, अठारह सौ सत्तावन, आजादी के दस्तावेजज्, गांधीः एक असम्भव सम्भावना, 1857 के बागी सिख, आजाद हिन्द फौज की कहानी, जैसी बहुत सी किताबें विभिन्न स्टालों पर दिखाई दे रही हैं। स्वाधीनता संग्राम और क्रान्तिकारियों से सम्बंधित किताबों का बहुत बड़ा संग्रह प्रकाशन विभाग के स्टाल पर है। इसके अतिरिक्त अन्य सभी विषयों पर विविधता भरी पुस्तकें स्टालों पर है। साहित्यिक चर्चाओं का आकर्षण साहित्यिक आयोजनों में रोली शंकर श्रीवास्तव के उपन्यास गुलमोहर एक यात्रा पर हुए संवाद में अनेक रचनाकारों ने अपने वक्तव्य रखे। काव्या सतत साहित्य यात्रा समूह के अलका प्रमोद के संचालन में चले कार्यक्रम में कैलाश निगम, ओम नीरव, सीमा अग्रवाल, संध्या सिंह, निवेदिता सिंह, निशा कोठारी, डा.मधु चतुर्वेदी, आदि ने रचना पाठ किया। डा.मंजूषा मोहन की अंग्रेजी पुस्तक एन इनचैंटिंग टेल आफ डिवाइन लवज् के लोकार्पण समारोह में महेन्द्र भीष्म और मृत्युंजय मिश्र अतिथियों के तौर पर सम्मिलित हुए। इसके साथ ही महंत द गॉड फादर, आपरेशन लॉग आउट, ब्लडी मेरिट स्कॉलर्स जैसी किताबों के लेखक व रेलवे अधिकारी अमिताभ कुमार के स्टाल पर उनकी रविवार शाम तक कुल 180 किताबें बिक गईं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lko
आखिरकार पिंजड़े में कैद हो गया दहशत का पर्याय बना तेंदुआअयोध्या के विवादित धर्मस्थल का मुकदमा मुसलमान जीत भी जाएं तो वह हिन्दुओं को दे दें-मौलाना डा.कल्बे सादिक