class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहराइच के गांव में मिला तेंदुए का बच्चा भेजा गया लखनऊ

female cubs

बहराइच वन प्रभाग की सदर रेंज के रामगांव इलाके में तीन महीने की एक मादा तेंदुआ शावक को ग्रामीणों के सहयोग से वन विभाग ने पकड़ लिया। यह शावक अपनी मां के साथ आबादी में आ गई थी और ग्रामीणों के खदेड़ने पर अपने झुंड से अलग हो गई थी। उसको प्राणि उद्यान लखनऊ को भेज दिया गया है।
इस इलाके के रामगांव थाने के बहराइच वन प्रभाग के सदर रेंज में आज़ाद नगर, मुकेरिया व फत्तेपुरवा आदि गांवों में डेढ़ साल से तेंदुआ का आतंक कायम है। डेढ़ साल के अंतराल में तेंदुआ दो मासूमों को जान से मार चुका है। इलाके के काफी मवेशियों व आवारा कुत्तों का भी तेंदुओं का झुंड शिकार कर चुका है। वन महकमे की ओर से इन गांवों के आसपास दो टीमें लगाई गई है, जो बारी-बारी से काम्बिंग करती हैं। 
शुक्रवार सुबह खेतों में काम कर रहे किसानों को मादा तेंदुआ अपने तीन शावकों के साथ रेहुआ मंसूर गांव के आसपास खेतों में दिखाई दी, तो किसान गांव की ओर शोर मचाते दौड़े। जिस पर ग्रामीणों ने हांका लगाते हुए वन महकमे के अफसरों को जानकारी दी। शोर होने पर मादा तेंदुआ दो शावकों के साथ किसी खेतों में जाकर छिप गयी। लेकिन एक शावक भटक कर आबादी में चला आया। जिसे ग्रामीणों की मदद से वन महकमे की टीम ने पकड़ लिया। रेंजर डीके सिंह ने बताया कि पकड़े गए मादा शावक को रेंज कार्यालय लाकर पशु चिकित्सकों से परीक्षण कराया गया। उसकी आयु लगभग तीन माह की है। 66 सेमी लंबे और 22 सेमी ऊंचाई वाला यह शावक पूर्णतया स्वस्थ मिला है। वन कर्मियों की देखरेख में उसको लखनऊ प्राणि उद्यान भेज दिया गया है। अब वह प्राणि उद्यान में रहेगा। इससे पूर्व भी 29 जुलाई को एक मादा शावक पकड़ कर प्राणि उद्यान लखनऊ भेजी गयी थी। झुंड के अन्य तेंदुओं की तलाश में काम्बिंग की जा रही है। 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Leopard kidnapped in Bahraich village sent to Lucknow
मदरसों ने 15 तक अपलोड नहीं कि जानकारी तो मान्यता होगी समाप्तविधायक निधि की 4.13 अरब की दूसरी किस्त जारी