class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एलडीए ने हाईकोर्ट कोर्ट में गायत्री के अवैध निर्माण गिराने की रिपोर्ट दी

पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के आशियाना इलाके के रूचि खंड में बन रही अवैध बिल्डिंग के ढहाने के बाद लखनऊ विकास प्राधिकरण ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट हाईकोर्ट की अवकाशकालीन पीठ के सामने पेश कर दी। रिपोर्ट में कहा गया कि उक्त निर्माणाधीन अवैध इमारत को ढहा दिया गया है। इसके बाद जस्टिस राजन राय की बेंच ने याचिका को अंतिम रूप से निस्तारित कर दिया। आरोपित के नाम कोर्ट को दिए रिपोर्ट पेश करते हुए एलडीए के वकील रत्नेश चंद्रा ने यह भी कहा कि उक्त अवैध होने के लिए जिम्मेदार चार अधिकारियों के लिए मामला राज्य सरकार के पास भेज दिया गया है। इन अधिकारियों में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर अजय कुमार सिंह असिस्टेंट इंजीनियर राकेश मेाहन ज्वाइंट इंजीनियर अम्बरीश शर्मा व पद्माकर शामिल हैं। कहा गया कि इन अधिकारियों ने अपनी ओर से उक्त अवैध निर्माण के खिलाफ तत्काल कार्यवाही की थी। राज्य सरकार की ओर से पेश अपर महाधिवक्ता एम एम पांडे ने कहा कि सरकार उक्त अधिकारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करेगी। यह था मामला विदित हो कि गायत्री प्रजापति के पुत्र अनुराग ने अपने अवैध निर्माण को बचाने के लिए कोर्ट की शरण ली थी पंरतु कोर्ट ने पाया कि उनके पिता गायत्री प्रजापति पूर्व सरकार में प्रभावशाली मंत्री थे और अपने रसूख के चलते उन्होंने अवैध निर्माण करा डाला और अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। कोर्ट ने याची को कोई राहत देने से इंकार कर ही दिया था बल्कि साथ ही यह भी कहा कि एलडीए अधिकारी उस अवैध निर्माण के खिलाफ कार्यवाही कर कोर्ट को बतायें। जिसके बाद शनिवार को वह निर्माण गिरा दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lda
सीएमओ ने विवेकानन्द अस्पताल को दी नोटिससीएम-डिप्टी सीएम व आरएसएस के दिग्गज भी करेंगे पीएम के साथ रात्रि भोजन