class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोरखपुर घटना पर लीपापोती के बजाय सख्त कदम उठाएं: मायावती

प्रमुख संवाददाता- राज्य मुख्यालय बसपा मुखिया मायावती ने कहा है कि गोरखपुर घटना पर लीपापोती के बजाय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सख्त कदम उठाने चाहिए। मेडिकल कॉलेज में 60 से अधिक बच्चों की मौत पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का गैर जिम्मेदाराना बयान ‘अगस्त में काफी बच्चों की मौतें होती हैं की कड़ी निंदा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री के इस प्रकार के हास्यास्पद बयान के बाद मुख्यमंत्री को अब तो जरूर सतर्क व सख़्त हो जाना चाहिए और इस घटना के लिए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। मेडिकल कालेज के प्रिन्सिपल को बलि का बकरा बनाकर प्रदेश सरकार अपनी जिम्मेदारी से भागने व घटना पर लीपापोती का प्रयास कर रही है। गोरखपुर घटना पर मुख्यमंत्री की शनिवार शाम प्रेस कान्फ्रेंस में दी गई सफाई को जनता सुनने के बजाय कार्रवाई चाहती है। दोषियों को बख़्शेंगे नहीं तथा अपराधियों को बख़्शेंगे नहीं आदि उपदेश सुनते-सुनते प्रदेश की जनता ऊब चुकी है। क्योंकि न तो कोई सख़्त कार्रवाई दोषियों के खिलाफ हो रही है और ही घटनाएं ही रुक रही हैं। मायावती ने कहा कि प्रदेश सरकार व स्वास्थ्य मंत्री को कम से कम मुख्यमंत्री के ज़िले में और भी ज्यादा सतर्क रहना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। यही कारण है कि भाजपा के सांसद भी इस घटना को नरसंहार का नाम दे रहे हैं। इस जघन्य अपराध के पीछे जैसाकि मीडिया बार-बार उजागर कर रहा है, सरकारी लापरवाही के साथ विभागीय भ्रष्टाचार का भी मामला है। इसके प्रति प्रदेश सरकार को फौरन सख़्त होने की ज़रूरत है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: govt should take srtric steps May take tough action instead of leopard on Gorakhpur incidents: Mayawati
गर्भवती विवाहिता की छत के कुंडे से लटकी मिली लाशटूटा 100 साल का रिकार्ड : श्रावस्ती में खतरे के निशान से ढाई मीटर ऊपर बही राप्ती