class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रावस्ती में विकराल हुई बाढ़, पांच दर्जन गांव घिरे, दो की मौत

श्रावस्ती में विकराल हुई बाढ़, पांच दर्जन गांव घिरे, दो की मौत बाढ़ का कहर भिनगा-बहराइच फोरलेन सड़क लक्ष्मननगर के पास बही एसएसबी मुख्यालय में भी पानी कमर तक पानी भरा 13 एसआरए पीआईसी 1- रविवार को बाढ़ से जलमग्न इकौना तहसील का बैदौरा गांव 13 एसआरए पीआईसी 2- रविवार को भिनगा-बहराइच फोर लेन मार्ग पर लक्ष्मननगर के पास कुछ बने पुल की कुछ ऐसी हालत हो गई। 13 एसआरए पीआईसी 4- रविवार को लक्ष्मननगर के पास कटी फोरलेन सड़क 13 एसआरए पीआईसी 5-रविवार को खरगौरा मोड़ के पास एसएसबी मुख्यालय में भरा पानी 13 एसआरए पीआईसी 6- पानी से डूबे एसएसबी जवानों के आवास 13 एसआरए पीआईसी 11- सिसवा के पास फोरलेन पर बहता बाढ़ का पानी श्रावस्ती। हिन्दुस्तान संवाद श्रावस्ती में बाढ़ की स्थित और खराब हो गई है। बाढ़ में बहराइच-भिनगा फोरलेन सड़क लक्ष्मननगर के पास बह गई। एसएसबी मुख्यालय में भी कमर तक पानी भर गया है। बाढ़ में डूब कर दो लोगों की मौत हो गई। जिले में राप्ती का पानी जमुनहा क्षेत्र में घटने के बाद इकौना में कहर बरपा रहा है। जमुनहा के दो दर्जन गांवों में अभी भी पानी भरा है। इकौना के तीन दर्जन गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। रमनगरा, नरायनपुर, कशियापुर, कल्यानपुर, बेड़सरा, पुरुषोत्तमपुर, सिसवारा, राधानगर, मनोहरापुर, गहिला आदि गांवों में लोग शनिवार रात से घरों की छत पर बसेरा बनाए हुए हैं। दूसरी सड़क भी आधी कटी: भिनगा-बहराइच फोर लेन सड़क लक्ष्मननगर के पास आने-जाने के लिए अलग है। यहां बहराइच से भिनगा आने वाली सड़क पानी में बह गई है। वहीं भिनगा से बहराइच जाने वाली सड़क आधी कट गई है। इसकी मरम्मत का काम जारी है। इस सड़क से बड़े वाहनों का आवागमन रोक दिया गया है। कोतवाली भिनगा के परसा डेहरिया निवासी बनवारी (35) शनिवार को खेत जा रहा था तभी पानी में डूब कर उसकी मौत हो गई। शव बरामद करअंतिम संस्कार कर दिया गया है। सिरसिया के ग्राम उधौपुरवा का छोटेलाल रविवार को गांव के पास नाला पार करते समय डूब गया। ग्रामीणों ने बाहर निकाल कर संयुक्त जिला अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन इलाज के दौरान मौत हो गई। बलरामपुर में भी राप्ती खतरे के निशान से ऊपर: बलरामपुर में राप्ती नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। रविवार अपराह्न पांच बजे राप्ती का जल स्तर 104.960 मीटर पहुंच गया जो खतरे के निशान से 0.34 मीटर ऊपर है। दो दर्जन से अधिक गांवों में पानी घुस गया है। इसी रफ्तार से पानी बढ़ता रहा तो रविवार रात तक बलरामपुर-तुलसीपुर बौद्ध परिपथ सहित दर्जन भर मार्ग पर आवागमन ठप हो जाएगा तथा प्रभावितों की संख्या लाखों में होगी। गोण्डा में घाघरा की बाढ़ में 45 गांवों के 260 मजरे चपेट में गोण्डा के करनैलगंज तहसील क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित इलाकों में घाघरा का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। जिले के 45 गांवों के लगभग 260 मजरे बाढ़ की चपेट में हैं। रविवार को पूरे दिन हेलीपैड के साथ-साथ अन्य तैयारियां पूरी करने के बाद मुख्यमंत्री का कार्यक्रम दोपहर बाद निरस्त हो गया जिसके चलते बाढ़ राहत केन्द्र पाल्हापुर में जुटे बाढ़ पीड़ितों को भी निराशा हुई। डीएम जेबी सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री के गोरखपुर जाने के कारण कार्यक्रम स्थगित हुआ है। उन्होंने बताया कि अब मुख्यमंत्री के सोमवार को 11बजे आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है। 10 सेमी. प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रही घाघरा, सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में बहराइच में घाघरा व सरयू दोनों नदियां उफान पर हैं। रविवार को शाम चार बजे गोपिया बैराज से 1.62 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इससे मिहींपुरवा क्षेत्र में घाघरा का जलस्तर 10 सेमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। चार तहसीलों महसी, कैसरगंज, नानपारा व मिहींपुरवा के सैकड़ों गांव जलमग्न हो गए हैं। कई गांवों का संपर्क ब्लॉक व तहसील मुख्यालय से टूट गया है। लोगों के घरों में बाढ़ का पानी भर जाने से बाढ़ प्रभावित इलाके के लोग अपने पक्के मकानों की छतों व पेड़ों पर बैठकर समय गुजार रहे हैं। एनडीआरएफ की टीम पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए दिन रात एक कर उन तक राहत सामग्री व लंच पैकेट लेकर पहुंच रही है। सीतापुर में 300 गांव फिर से बाढ़ की चपेट में: सीतापुर के रेउसा क्षेत्र में घाघरा व शारदा नदियों के जलस्तर में वृद्धि लगातार जारी है। करीब तीन सैकड़ा गांव एक बार फिर से बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। सम्पर्क मार्गों पर फिर से पानी चलने लगा है। लोगों का आवागमन बाधित हो गया है। क्षेत्र की ग्राम पंचायत गौलोक कोडर के श्यामनगर, सुंदरनगर, बिल्लरपुरवा, जैतैहा, मरैली, पासिनपुरवा आदि फिर से जलमग्न हो गए हैं। ग्रामीण अपना-अपना सामान लेकर ऊंचे स्थानों पर पलायन कर रहे हैं।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:five dozen villages surrounded by flood in Shravasti, two died
डिप्टी सीएम ने दिया शासनादेश लागू कराने का आश्वासनशिक्षामित्र 15 अगस्त को निकालेंगे मौन जुलूस