class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रॉमा सेंटर बिल्डिंग में खामियां, हो सकता है दोबारा निर्माण

फायर विभाग के अधिकारियों ने पांच तलों का किया निरीक्षण - रिपोर्ट तैयार करके कमिश्नर को सौंपी रिपोर्ट लखनऊ। निज संवाददाता ट्रॉमा सेंटर की बिल्डिंग का निर्माण मानकों के विपरीत किया गया है। आग लगने पर बाहर निकलने के रास्ते पर्याप्त नहीं है। फायर विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को पांचों तल के मुआयना करने के बाद यह निष्कर्ष निकाला है। शनिवार को ट्रॉमा सेंटर में दूसरे तल पर स्टोर रूम में आग लगने के बाद प्रशासन नींद से जागा है। सीएम के निर्देश के बाद फायर विभाग के ज्वांइन डायरेक्टर पीके राव, हेडक्वार्टर में तैनात ज्वांइन डायरेक्टर जेके भदौरिया, सीएफओ एबी पांडेय और एफएसओ चौक जितेंद्र कुमार सुबह ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। पांच तल की इमारत में मिली खामियां फायर विभाग की टीम ने पांच तलों का मुआयना किया। ज्वांइन डायरेक्टर पीके राव का कहना है कि ट्रॉमा सेंटर की बिल्डिंग नक्शे के हिसाब से नहीं बनी है। जरुरत के हिसाब से इमारत का निर्माण किया गया। इमारत का निर्माण कई टुकड़ों में किया गया है। इसी कारण मानकों का पालन नहीं हुआ। फायर विभाग के मानक कहते है कि इमारत के चारों तरफ छह मीटर जगह छोड़नी चाहिए जबकि ट्रॉमा सेंटर की बिल्डिंग के तीन तरफ महज तीन मीटर का ही फासला है। इसके अलावा उपकरण भी खराब मिले। आग लगने पर वाटर हाइड्रेड में कम पानी था। अलार्म सिस्टम भी खराब था। उन्होंने अपनी रिपोर्ट तैयार करके कमिश्नर को सौंप दी है। सरकारी इमारत के दौरान नहीं ली जाती है एनओसी अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि अमूमन गैर सरकारी इमारतों के निर्माण के दौरान फायर विभाग से एनओसी ली जाती है, पर सरकारी विभाग के जिम्मेदार इसका पालन नहीं करते है। ट्रॉमा सेंटर की इमारत मानक के हिसाब से बनी तो आग लगने पर लपटें और धुआं दूसरे तल तक नहीं पहुंचता। उन्होंने बताया कि इमारतों के निर्माण के वक्त नक्शा पास कराएं व एनओसी ले तो हादसों से बचाव हो सकता है। नोटिस भेजकर उपकरणों दुरूस्त करने की दी चेतवानी सीएफओ एबी पांडेय ने बताया कि ट्रॉमा सेंटर में अग्निकांड के बाद विभाग ने सोमवार को शहर के सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों को नोटिस भेजकर अग्निशमन उपकरणों को चाक चौबंद करवाने की नसीहत दी है। फायर विभाग ने उन्हें 31 जुलाई तक व्यवस्था दुरूस्त करने की चेतवानी दी है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fire
जीएचसी ने शुरू की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशनपीजीआई की न्यू ओपीडी में लग रही एस्क्लेटर