class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीरे के परमिट अब आनलाइन भी जारी होंगे, आबकारी मंत्री ने किया शुभारम्भ

-देसी शराब बनाने वाली डिस्टलरियों की मनमानी रुकेगी, पेट्रोल में दस फीसदी एथानाल की ब्लेंडिंग से बढ़ी शीरे की मांग-पिछली सरकारों में अवैध शराब बनाने व बेचने वालों को मिला संरक्षण : आबकारी मंत्री विशेष संवाददाता/राज्य मुख्यालयप्रदेश में अब शीरे के परमिट आनलाइन भी जारी होंगे। इससे न केवल शीरा कारोबारियों की मुश्किलें कम होंगी बल्कि देसी शराब बनाने वाली डिस्टलरियों द्वारा चीनी मिलों में आरक्षित शीरा उठाने में की जाने वाली हीलाहवाली पर भी अंकुश लगेगा। प्रदेश के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने शुक्रवार को यहां आवास विकास परिषद के सभागार में आनलाइन शीरा सम्भरण पोर्टल का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने पहला परमिट बजाज हिन्दुस्तान के प्रतिनिधि को सौंपा। इस पोर्टल पर प्रदेश की चीनी मिलों में उत्पादित शीरे की मिलवार मात्रा, उपलब्धता व आरक्षित शीरे की उठान आदि का पूरा ब्यौरा पारदर्शी रहेगा। इससे यह भी पता चल सकेगा कि देसी शराब बनाने वाली किस डिस्टलरी ने अपना आरक्षित शीरा समय से उठाया और किसने नहीं।आबकारी मंत्री ने पत्रकारों से कहा कि पिछली सरकारों में अवैध बनाने और बेचने वालों को संरक्षण दिया गया जिसकी वजह से प्रदेश में जहरीली शराब से होने वाली मौतों के हादसे बढ़े। इसी के मददेनजर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर विभाग ने आबकारी अधिनियम की धाराओं में बदलाव करते हुए अवैध शराब बनाने और बेचने वालों तथा जहरीली शराब के हादसों के जिम्मेदारों के लिए सजा के प्रावधान और सख्त कर दिए।आबाकारी आयुक्त धीरज साहू ने बताया कि आने वाले दिनों में उनका विभाग बार और दवाओं में अल्कोहल के इस्तेमाल के लिए लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया भी आनलाइन हो जाएगी। इसके साथ ही अल्कोहल के आवागमन की पूरी व्यवस्था को भी आनलाइन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चूंकि अब पेट्रोल में दस प्रतिशत एथानाल की ब्लेंडिंग होने लग गयी है इसलिए एथानाल के कच्चे माल यानि शीरे की मांग बढ़ गयी है और अब शीरे की समय से उपलब्धता सुनिश्चत करवाना आबकारी विभाग की प्रमुख प्राथमिकता हो गयी है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आबकारी दीपक त्रिवेदी सहित अनेक चीनी मिलों के प्रतिनिधि और विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Exice
सरकार ने तय की आलू के बीज बेचने की दरेंकामकाज के लिए-निर्माण निगम कर्मियों का आन्दोलन 16 अक्टूबर से