class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कामकाज- लेखाकर्मियों के उत्पीड़न पर रोक लगाने की मांग

लेखा एवं लेखा परीक्षा सेवा परिसंघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण प्रशांत त्रिवेदी से मुलाकात की। इस दौरान लेखाकर्मियों को नियम विरूद्ध तरीके से एक साथ कार्यमुक्त करने पर चर्चा की गई। परिसर के अध्यक्ष सुशील कुमार बच्चा ने कहा कि महानिदेशक परिवार कल्याण डा. नीना गुप्ता ने निदेशालय में कार्यरत सभी लेखाकारों को निदेशक आन्तरिक लेखा एवं लेखा परीक्षा उ.प्र. के अधिकारों का अतिक्रमण करते हुए एक साथ कार्यमुक्त कर दिया है। उन्होंने मनमाने तरीके से निर्गत किये गये आदेश को निरस्त करने का अनुरोध किया गया। इस पर प्रमुख सचिव ने कहा कि लेखाकर्मियों के उत्पीड़न पर रोक लगाने व न्याय दिलाने का आश्वासन प्रतिनिधिमण्डल को दिया। परिसंघ द्वारा यह भी निर्णय लिया गया कि यदि प्रदेश के विभिन्न राजकीय विभागों में विभागाध्यक्षों द्वारा किये जा रहे इस प्रकार के कृत्य पर रोक नहीं लगाई जाती है, तो परिसंघ आरपार की लड़ाई लड़ेगा। वार्ता में दिलीप सक्सेना, हरीश चैधरी, अरविन्द कुमार, राजेन्द्र प्रसाद, रवीन्द्र कुमार, आलोक शुक्ल, सुनील मिश्र, सुशील कुमार एवं संजय श्रीवास्तव उपस्थित रहे।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ews
शिवपाल खेमे को बेअसर करने को सपा की नई तरकीबलविवि नया सत्र- छात्रों से बातचीत