class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुखबिरी में शामिल युवक को भी पुलिस ने पकड़ा, नहीं मिला क्राइम रिकार्ड

कई चक्र पुलिस ने की पूछताछ व्यापारी के घर डकैती डालने आये बदमाशों से मुठभेड़ का मामला लखनऊ। प्रमुख संवाददाता व्यापारी प्रदीप बंसल के घर डकैती डालने आये बदमाशों से मुठभेड़ के मामले में पुलिस ने गुरुवार को मुखबिरी में शामिल अनुज को भी पकड़ लिया। व्यापारी के घर काम करने वाला 12 साल का किशोर और बसन्त पहले से ही हिरासत में है। अनुज का कोई अपराधिक इतिहास नहीं मिला है। पुलिस ने गुरुवार को कई घंटे तक तीनों से पूछताछ की पर कुछ खास नहीं पता चला। उधर अस्पताल में भर्ती दोनों बदमाशों की हालत अब पूरी तरह खतरे से बाहर है। बुधवार तड़के पुलिस की कार से आये इन बदमाशों से कुकरैल बंधे पर मुठभेड़ हो गई थी। इस दौरान पुलिस की फायरिंग में फर्रुखाबाद के बदमाश रेहान व अनवर पैर में गोली लगने से घायल हो गये थे जबकि सादिक, विकास दुबे और तौसीफ गिरफ्तार कर लिये गये थे। इसके बाद पड़ताल में सामने आया था कि प्रदीप के यहां बसंत व नाबालिग नौकर काम करता था। इनकी पहचान बहराइच निवासी अनुज से थी। अनुज ने ही प्रदीप के घर की सारी जानकारी हासिल की थी। अनुज को भी पकड़ा पुलिस ने गाजीपुर इंस्पेक्टर गिरिजा शंकर त्रिपाठी ने बताया कि नाबालिग किशोर और बसंत से पहले ही पूछताछ की जा रही थी। अनुज अपने घर पर ही मिल गया। उसे भी हिरासत में ले लिया गया है। किशोर और बसंत गुरुवार को थाने में रोने लगे और पुलिस से माफी देने को कहने लगे। उनका कहना था कि उनसे जो भूल हो गई, उसका बहुत पछतावा है। मालिक भी पुलिस से बोले, छोड़ दीजिये बसंत और नाबालिग के घर वाले प्रदीप बंसल के सामने गिड़गिड़ाने लगे कि उनकी गलती माफ कर दी जाये। इस पर प्रदीप को भी उन पर दया आ गई। गाजीपुर इंस्पेक्टर ने बताया कि दोपहर में प्रदीप ने कहा कि इनको छोड़ दीजिये, इन्हें पछतावा हो गया है और घटना की साजिश में यह शामिल नहीं थे। पुलिस का कहना है कि नाबालिग को गिरफ्तार नहीं किया जाना है पर बसंत और अनुज के बारे में शुक्रवार को आगे की कार्रवाई की जायेगी। आदर्श व्यापार मंडल भी करेगा सम्मानित उत्तर प्रदेश आदर्श व्यापार मंडल ने भी पुलिस को सम्मानित करने की बात कही है। प्रदेश अध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि पुलिस के इस गुडवर्क से एक व्यापारी के घर डकैती की घटना होने से बची है। लिहाजा वह सम्मान की हकदार है। पुलिस एसएसपी दीपक कुमार, सीओ गाजीपुर अवनीश्वर श्रीवास्तव, गाजीपुर इंस्पेक्टर गिरिजा शंकर त्रिपाठी, इंस्पेक्टर हजरतगंज आनन्द कुमार शाही, इंस्पेक्टर सरोजनीनगर धर्मेश कुमार शाही समेत पूरी टीम को सम्मानित किया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:encounter
शिकंजा: बिजली चोरी में फंसे तो एक साल का भरना होगा बिलबीकेटी में दौलतपुर हुआ खुले में शौचमुक्त