class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखा पर 25 अक्तूबर तक दें रिपोर्ट: मुख्य सचिव

मुख्य सचिव राजीव कुमार ने प्रदेश में संभावित सूखे को ध्यान में रखते हुए मंडलायुक्तों तथा जिलाधिकारियों को आगाह किया है। कहा है कि संभावित सूखे को ध्यान में रखते हुए संबंधित विभागों के साथ मिलकर आवश्यक कार्यवाही करें। सूखे से संबंधित प्रस्ताव 25 अक्तूबर तक देने का निर्देश दिया है।

मुख्य सचिव ने मंडलीय तथा जनपदीय वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कि प्रदेश में सूखे की संभावित स्थिति से निपटने के लिए जिला स्तर पर सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करें। सूखा मैनुअल-2016 में निर्धारित मानकों के अनुसार जिले की वस्तुस्थिति का परीक्षण करें। यदि सूखाग्रस्त किया जाना अपेक्षित हो तो स्पष्ट प्रस्ताव भेजें। यह प्रस्ताव 25 अक्तूबर तक शासन को हर हाल में भेज दें। सूखे के संबंध में जनपद स्तर पर की जा रही कार्यवाहियों की साप्ताहिक रिपोर्ट 30 अक्तूबर से लेकर जनवरी 2018 तक प्रत्येक सोमवार को राहत आयुक्त संगठन, राजस्व विभाग के ई-मेल पर भेजने का निर्देश दिया है।

उन्होंने कहा कि वैकल्पिक फसलों के साथ खाद्य व बीज की पर्याप्त उपलब्धता रखी जाए। फसलों में रोग से बचाव के लिए कीटनाशक दवाओं की व्यवस्था की जाए। सिंचाई विभाग के सभी संसाधनों तथा सरकारी नलकूपों को चालू स्थिति में रखने को कहा है। नहरों को रोस्टर के अनुसार चलाये जाने के साथ-साथ नहरों के अवैध कटान पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश जारी किया है। उन्होंने नहरों के टेल तक पानी पहुंचाना सुनिश्चित कराने के साथ-साथ खराब नलकूपों की मरम्मत कराने का निर्देश भी दिया है। पशुओं के लिये चारे की पर्याप्त उपलब्धता तथा पशुओं के उपचार के लिए दवाओं की व्यवस्था करने को कहा है। महामारी के नियंत्रण के लिए दवाओं का स्टाक तैयार रखने, पेयजल के सभी स्रोतों एवं संसाधनों की उचित मरम्मत कराने का निर्देश भी दिया है। मुख्य सचिव ने खराब ट्रांसफार्मरों को अनिवार्य रूप से 24 घंटे में बदले जाने के साथ रोस्टर के अनुसार विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने को कहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:District Collector give drought Report on Oct 25 : Chief Secretary
कैलाश कुंज के अवैध कब्जे खाली कराएगा एलडीएमोहनलालगंज में तहसील प्रशासन ने ठहाया अवैध निर्माण