class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनशन पर बैठे दो रोजगार सेवकों की हालत बिगड़ी, सिविल में भर्ती

-पंचायत सहायक की भर्ती पर रोक लगाने सहित अन्य मांग को लेकर कर रहे क्रमिक अनशन- शुक्रवार को काटी पट्टी बांधकर लक्ष्मण मेला मैदान में करेंगे प्रदर्शनलखनऊ। निज संवाददातापंचायत सहायक की भर्ती पर रोक लगाए जाने सहित नौ सूत्री मांग को लेकर ग्राम रोजगार सेवकों का लक्ष्मण मेला मैदान में क्रमिक अनशन जारी है। अनशन के दूसरे दिन दो रोजगार सेवकों की अचानक हालत खराब हो गई। उन्हें पुलिस की मदद से ऐम्बुलेंस से सिविल अस्पताल ले जाया गया। वहां इलाज के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। ग्राम रोजगार सेवकों का कहना है कि जब तक उनकी वार्ता सीएम से नहीं कराई जाती आंदोलन जारी रहेगा। शुक्रवार को वह लोग काली पट्टी बांध कर मांगों के समर्थन में प्रदर्शन करेंगे। यह सभी ग्राम रोजगार सेवक सघर्ष समिति के बैनर तले एकजुट हुए हैं। क्रमिक अनशन पर बैठे 21 ग्राम रोजगार सेवकों में से बांदा के प्रभात मिश्रा और मिर्जापुर के कुंज बिहारी की हालत गुरूवार दोपहर अचानक बिगड़ गई। इसकी सूचना पाते ही वहां मुस्तैद पुलिस अधिकारी हरकत में आ गए और एम्बुलेंस से दोनों को सिविल अस्पताल पहुंचाया। समिति के सदस्य देवेंद्र प्रताप शाही ने बताया कि क्रमिक अनशन होने के बावजूद यह दोनों दूसरे दिन भी अनशन पर बैठे रहे। इसके परिणाम स्वरूप उनकी यह हालत हुई। वहीं प्रभात सिंह चंदेल ने प्रदेश सरकार को चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों पर जल्द ही कोई सकारात्मक निर्णय नहीं लिया गया तो आंदोलन और तेज कर दिया जाएगा। भूपेश कुमार सिंह और कमलेश कुमार गुप्ता ने कहा कि वह लोग अपनी मांगों को लेकर काफी समय से संघर्षरत हैं। नगर निकायों में शामिल हो चुके ग्राम पंचायतों के ग्राम रोजगार सेवक दो जून की रोटी को मोहताज हो गए हैं। उन्हें खाली पड़े ग्राम पंचायतों में ग्राम रोजगार सेवक के पद पर समायोजित किया जाए। साथ ही उन्होंने ग्राम रोजगार सेवकों को समूह-ग के राज्य कर्मचारियों की भांति उन्हें भी वेतनमान दिए जाने की भी मांग उठाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:dharna
एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस का आईपीओ 20 को खुलेगानौ पदों के लिए मानदेय तय