class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेंगू से लड़ने के लिए सिर्फ स्वास्थ्य विभाग दिख रहा सतर्क

पिछली बार मोहनलालगंज क्षेत्र में डेंगू की बीमारी से सबसे ज्यादा लोगों के चपेट में आने के साथ दर्जनों मौतों के बावजूद इस बार स्वास्थ्य विभाग को छोड़ कोई सतर्क नजर नही आ रहा है। ग्राम पंचायतों को कोई दिशा निर्देश जारी न होने के कारण सभी गांवों में स्वास्थ्य विभाग एंटी लार्वा का छिड़काव तक नही करवा पा रहा है। गांवों में गंदगी के साथ हाइवे के किनारे बने नाले गंदगी से पटे पड़े है। जिसकी सफाई तक नही हो पा रही है। पिछली बार डेंगू से दर्जनों मौतों के बाद से ग्रामीण काफी सहमें हुए है। हाइवे के किनारे बने नाले गंदगी से पटे पड़े है। नालों के निर्माण के बाद से कोई सफाई नही करवाई गई। गांवों में भी गंदगी के ढेर लगे है। तहसील दिवस से लेकर धरना-प्रदर्शन के बावजूद आज तक नालों की सफाई नही करवाई गई। इस बार भले स्वास्थ्य विभाग पहले से सचेत हो गया हो। और एंटी लार्वा का छिड़काव शुरु करवा दिया हो । लेकिन ग्राम पंचायतों को कोई दिशा निर्देश न होने के कारण एंटी लार्वा का छिड़काव करवाने के लिए मनरेगा मजदूर नही मिल पा रहें है। जिससे पूरे क्षेत्र में एंटी लार्वा का छिड़काव भी नही हो पा रहा है। वही सीएचसी पर डेंगू के मरीजों के इलाज के लिए अलग बेड की व्यवस्था की जा रही है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:dengue
सहकारिता मंत्री ने दिए 6 प्रबंधकों का तबादला करने के निर्देशमध्य कमान में 5000 लोग योगाभ्यास करेंगे