class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसों की धुलाई में लापरवाही पर समाप्त होगा अनुबंध

परिवहन निगम मुख्यालय ने हिन्दुस्तान में छपी खबर का शीर्षक ‘बसों की सफाई धुलाई में खेल मामले को संज्ञान में लिया लखनऊ सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों में ठेके पर चल रहे बसों की सफाई धुलाई करने वाली संस्था को भेजा नोटिस लखनऊ। निज संवाददाता राजधानी समेत प्रदेश में बसों की सफाई-धुलाई का काम कर रहीं निजी संस्थाएं परिवहन निगम मुख्यालय के अधिकारियों के रडार पर हैं। कैसरबाग बस डिपो समेत अन्य डिपो में बसों की धुलाई का काम कर रही मेसर्स भूतपूर्व सैनिक समिति अनुबंध की शर्तो के मुताबिक काम न करने पर सोमवार को निगम मुख्यालय से नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में साफ तौर पर कहा गया है कि बसों की सफाई-धुलाई में अब जरा भी लापरवाही पाई या अनुबंधक की शर्तो का उल्लंघन करने पर बिना नोटिस दिए अनुबंध समाप्त कर दिया जाएगा। जहां से बसों की सफाई धुलाई का ठेका दिया गया है वहां वहां से मुख्यालय पर तलब की गई रिपोर्ट में पाया गया कि जिन शर्तों पर मेसर्स भूतपूर्व सैनिक सेवा समिति को ठेका दिया गया था उनमें से किसी एक शर्त पर भी संस्था खरी नहीं उतर पाई है। संस्था बसों की अंदर व बाहर सही से सफाई-धुलाई नहीं कर रही है। इतना ही नहीं कई बार दिए गए नोटिस के बावजूद संस्था अपने काम में भी कोई सुधार नहीं कर रही है। संस्था के काम में लापरवाही बरतने से नाराज रोडवेज अधिकारियों ने ठेका रद्द करने की अंतिम चेतावनी नोटिस जारी की है। लाखों खर्च फिर भी गंदी है बस परिवहन निगम बसों की सफाई-धुलाई पर हर महीने 50 लाखों रुपये से ज्यादा खर्च करता है। बावजूद बसें गंदी ही रोड पर दौड़ रही है। कई बार रोडवेज अधिकारियों को यात्रियों द्वारा बसों में गंदगी होने की शिकायतें भी मिल चुकी हैं। हाल ही में परिवहन मंत्री ने खुद ही एक बस में साफ-सफाई का निरीक्षण किया तो बस में काफी गंदगी मिली थी। काम में सुधार नहीं तो भुगतान में होगी कटौती मुख्य प्रधान प्रबंधक तकनीकी जयदीप वर्मा ने साफ तौर पर कहा कि डिपो इंचार्ज बसों की सफाई का निरीक्षण करें, गंदगी पाए जाने पर भुगतान में कटौती करें। इससे भी अगर काम में सुधार नहीं होता है तो अनुबंध रद करने के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र लिखें। काम में लापरवाही पर ठेका रद करने में जरा भी देरी नहीं की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Buses in negligence will end contracts on washing
खूंटियों पर टंगी कहानियां पर हुई चर्चाशिवपाल खेमे को बेअसर करने को सपा की नई तरकीब