class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अयोध्या मामला:श्रीश्री रविशंकर - योगी की मुलाकात,राम मंदिर पर हुई बात

1 / 2Cm yogi and Shri Shri ravishankar

2 / 2Shri ravishankar

PreviousNext

अदालत से बाहर आपसी सहमति से अयोध्या में राममंदिर का निर्माण करवाने की मुहिम को आगे बढ़ाते हुए आर्ट आफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने उनके आवास पहुंचे। दोनों में आधे घंटे तक बातचीत हुई। इससे पहले उन्होंने मंगलवार रात गोंसाईगंज स्थित जलसा रिजार्ट में अनुयायियों से मुलाकात की थी।

श्री कृष्ण जन्मभूमि से आशीर्वाद ले राममंदिर पर वार्ता को निकले श्रीश्री रविशंकर

कल वे अयोध्या जाएंगे और वहां संतों से मिलेंगे। मगर उनकी इस मुहिम से अयोध्या मामले से जुड़े कई लोग सहमत नहीं हैं। सिर्फ तीन पक्षों के साथ बैठक हो तो राजीयूपी सुन्नी सेण्ट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जुफर फारूकी का कहना है कि अयोध्या विवाद के सिर्फ तीन ही पक्षकार हैं सुन्नी वक्फ बोर्ड, निरमोही अखाड़ा और भगवान श्री राम विराजमान।

Video - योगी ने अयोध्या से शुरू किया निकाय चुनाव प्रचार

श्री श्री रविशंकर लखनऊ प्रवास के दौरान अगर तीन पक्षकारों से मिलते हैं तो ही ऐसी बैठक में सुन्नी वक्फ बोर्ड शामिल हो सकता है। शिया वक्फ बोर्ड तो इस मामले में बेवजह कूद रहा है। श्री श्री की कोशिशों से अगर बातचीत से हल निकल आए तो इससे बेहतर और क्या हो सकता है। मध्यस्थता प्रस्ताव पर गौर करने के बाद ही होगा स्वीकारनिरमोही अखाड़ा के वकील रंजीत लाल वर्मा का कहना है कि उन्हें श्री श्री की तरफ से बातचीत के लिए कोई बुलावा नहीं आया है वह अयोध्या में निरमोही अखाड़ा भी जाएंगे।

उस दौरान हम लोग भी उनसे मिलेंगे। श्री श्री का लखनऊ में स्वागत मगर उनके पास कोई प्रस्ताव नहींउधर, बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक एडवोकेट जफरयाब जीलानी का कहना है कि श्री श्री रविशंकर के नुमाइंदों ने कुछ दिन पहले हमसे सम्पर्क किया था। मौखिक बातचीत में हमने उनसे यही कहा कि उनका स्वागत है। मगर अयोध्या मामले में उनसे मुलाकात का कोई मतलब नहीं इसलिए क्योंकि उनके पास समाधान का कोई प्रसताव ही नहीं है।

अयोध्या: वक्फ बोर्ड ने कहा- राम की नगरी है अयोध्या, वहीं बने मंदिर

वहीं रामलला विराजमान के वकील मदन मोहन पाण्डेय का कहना है कि श्री श्री रविशंकर की तरफ से हम लोगों कोई सम्पर्क नहीं किया गया। न ही हम लोग उनसे मिलने जाएंगे।श्री श्री की मध्यस्थता का कोई मतलब नहींहमें श्री श्री रविशंकर की तरफ से कोई सूचना नहीं मिली है। न ही हमें उनकी मध्यस्थता स्वीकार है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ayodhya
गोंडा : ब्लाक स्तरीय खेल प्रतियोगिता में बच्चों ने दिखाया दम बच्चे अपनी शिकायत व दिक्कतें साझा कर सकें ऐसा दें माहौल-डीजीपी