class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजकीय इंजीनियरिंग कालेजों में शिक्षकों की भर्ती नवम्बर तक: आशुतोष टण्डन

प्रमुख संवाददाता / राज्य मुख्यालय। राजकीय इंजीनियरिंग कालेजों में शिक्षकों की भर्ती का काम 30 नवम्बर तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके लिए मार्च-अप्रैल में विज्ञापन निकाला गया था। इसके बाद 6.7 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। इसी महीने की आठ को ऑनलाइन परीक्षा भी हो गई। इसके अलावा हर मंडल में एक महिला पॉलीटेक्निक खुलेगा। हर पॉलीटेक्निक में प्लेसमेन्ट सेन्टर बनेगा और एक केन्द्रीय प्लेसमेन्ट सेन्टर भी होगा। निजी इंजीनियरिंग कालेजों के छात्र-छात्राओं की फीस निर्धारित कर दी गई है। यह फीस सालाना 55 हजार से एक लाख 60 हजार तक है। यह जानकारी शुक्रवार को प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन (गोपाल जी) ने सरकार के छह माह पर अपने विभाग की उपलब्धियों का जिक्र करने के दौरान दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की इच्छा के अनुसार हर मंडल में महिला पॉलीटेक्निक खोले जाने की कड़ी में बस्ती, अलीगढ़ और आगरा में पॉलीटेक्निक खोले जाने की मंजूरी दी गई है। प्रदेश में राजकीय और निजी पॉलीटेक्निक की तादाद 489 है। 16 नए पॉलीटेक्निक खोले जाने की मंजूरी मिल गई है। श्री टण्डन ने बताया कि पॉलीटेक्निक में गुणवत्ता सुधार के लिए प्रॉविधिक विभाग ने बिना सरकार से लिए अपने संसाधनों से 200 करोड़ रुपये जुटाये हैं। यह रकम दीनदयाल गुणवत्ता सुधार योजना के तहत सभी पॉलीटेक्निक को इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए दी गई है। विश्वबैंक ने भी तकनीकी सुधार के मकसद से धन देने के लिए प्रदेश के 15 इंजीनियरिंग कालेजों का चयन किया है। एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय में पीएचडी के लिए भी सेन्टर बनाया गया और वहां एडवान्स्ड स्टडी की व्यवस्था की जाएगी। सभी पॉलीटेक्निक ने 45 दिन के अन्दर कई सालों से पड़े डिप्लोमा व मार्कशीट दो अक्तूबर से दीक्षान्त समारोह में दे दिये गये। इसके तहत 45 हजार छात्र-छात्राओं को डिप्लोमा मार्कशीट मिली है। नोएडा, लखनऊ और गोरखपुर में आयोजित रोजगार मेलों में 4500 पालिटेक्निक उत्तीर्ण प्रशिक्षार्थियों को नौकरी दी जा चुकी है। पॉलीटेक्निक के छात्र-छात्राओं के लिए स्टूडेन्ट सर्विस अप्लीकेशन बनाई गई है। इसके तहत ऑनलाइन मार्कशीट, डिप्लोमा व अन्य जरूरी कागजात पाए जा सकते हैं। सभी इंजीनियरिंग कालेजों में वाई-फाई सुविधा और सभी पॉलीटेक्निक में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक मशीन लगाई गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ashutosh Tondon Press Confrence
शून्य लागत खेती संबंधी प्रशिण शिविर 20 से 25 दिसंबर तक16 अक्टूबर को गोरखपुर में पिपराइच चीनी मिल के जीर्णोद्वार का शिलान्यास करेंगे