class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोजगार सेवक व वित्त विहीन शिक्षक संघ का लखनऊ में प्रवेश प्रतिबंधित

वित्त विहीन मान्यता प्राप्त माध्यमिक शिक्षक संघ व ग्रामीण रोजगार सेवक संघ का मंगलवार (18 जुलाई) को प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन व विधान भवन घेराव के आंदोलन पर रोक लगा दी गई है। प्रशासन ने इन संगठनों के लखनऊ की सीमा में प्रवेश को भी प्रतिबंधित कर दिया है। एडीएम (नगर पूर्वी) वीरेन्द्र कुमार पांडे ने बताया कि वित्त विहीन मान्यता प्राप्त माध्यमिक शिक्षक संघ और ग्रामीण रोजगार सेवक संघ की मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर विधान भवन घेरने की योजना है। इन संगठनों ने कोई अनुमति भी नहीं ली है। इस समय विधान सभा सत्र भी चल रहा है। इंटेलीजेंस विभाग से मिली रिपोर्ट के मुताबिक इन संघठनों के सदस्यों के राजधानी में आने से कानून -व्यवस्था बिगड़ सकती है। सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसे देखते हुए धरने पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही इन संगठनों के राजधानी में प्रवेश को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा -144 लागू कर दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:agitation banned
राज्यमंत्री गिरीश चन्द्र यादव ने सुनी जनता की समस्याएंग्राम्य विकास मंत्री से संघों के पदाधिकारियों ने की भेंट