class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार पिंजड़े में कैद हो गया दहशत का पर्याय बना तेंदुआ

एक माह से शुगर मिल के जंगलों में जमाए था डेरा लखनऊ से आई टीम तेंदुए को चिड़ियाघर ले गई चित्र परिचय---रविवार को बाराबंकी शहर से सटी बंद पड़ी शुगर मिल के जंगल में पिंजड़े में कैद तेंदुआ बाराबंकी हिन्दुस्तान संवाद कभी लोमड़ी तो कभी सियार और कभी कोई जंगली जानवर की बातें बताने वाले वन विभाग के होश उस समय उड़ गए जब शुगर मिल के जंगल में लगाए गए पिजड़े में रविवार की भोर में एक तेंदुआ फंसा दिखा। पिंजरे में बंधी बकरी को शिकार बनाने आया तेंदुआ खुद ही फंस गया। सुबह तेंदुआ को देखने के लिए हजारों लोगों का मजमा लगा था। दोपहर बाद लखनऊ से आई वन विशेषज्ञों की टीम तेंदुए को दूसरे पिंजड़े में रखकर लखनऊ चिड़ियाघर ले गई। शाम को गार्ड ने तेंदुआ देखा तब लगाया पिजड़ा : शहर से सटी बंद पड़ी शुगर मिल के गार्ड ने शनिवार की शाम धुंधलके में तेंदुए को देखा। इतना ही नहीं उसने अपने मोबाइल से फोटो खींची और तत्काल पुलिस व वन विभाग को सूचना दी। वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और फोटो देखने के बाद आनन-फानन जंगल में पिंजड़ा लगाकर उसमें बकरी बांधी गई। कर्मचारी व गार्ड रात भर छिपे बैठे रहे। अचानक पिजड़ा बंद होने की आवाज पर जब वह पहुंचे तो टार्च की रोशनी में देखा कि तेंदुआ फंस गया है। रोशनी देखते ही तेंदुआ तेजी से दहाड़ने लगा। लखनऊ से आई टीम ने किया बेहोश : तेंदुए के फंसने की खबर सुबह ही लखनऊ में डीएफओ जावेद अख्तर को दी गई। दोपहर बाद लखनऊ से वाइल्ड लाइफ की टीम पिंजड़क के साथ पहुंची। नए पिंजड़े को पहले से रखे पिंजड़े के सामने रखा गया। तेंदुआ जिसमें फंसा था उसे जैसे ही खोला गया वह भागा और दूसरे पिंजड़े में पहुंच गया। मौके पर मौजूद वनकर्मियों ने तत्काल गेट बंद किया। इसके बाद वाहन पर लादकर उसे लखनऊ चिड़ियाघर भेजा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After all, the leopard captured in a cave
सुरों के जादू से बाल कलाकारों ने बिखेरा जलवापुस्तक मेला: किताबों से सुनते आजादी और वीरों की कहानी