class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति चुनाव: जीत के लिए रामनाथ कोविंद के गांव में अनुष्ठान

Rituals started for Kovind's victory at the presidency

राष्ट्रपति पद के लिए सोमवार को होने वाले चुनाव में रामनाथ कोविंद की जीत के लिए उनके पैत्रक गांव परौंख में धार्मिक अनुष्ठान शुरू हो गए हैं। गांव में अलग-अलग कई लोगों ने अपने तरीके से घरों में पूजा-पाठ शुरू की है। गांव के पथरी देवी मंदिर पर रविवार को सामूहिक अखंड पाठ शुरू हो चुका है।

राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर सभी में कौतूहल है। रामनाथ कोविंद एनडीए के उम्मीदवार हैं। चुनाव को लेकर कोविंद के गांव ही नहीं पूरे क्षेत्र में जबरदस्त उत्साह है, सभी के मन में एक ही तमन्ना है कि अपने बीच का कोई व्यक्ति देश की सर्वोच्च कुर्सी पर बैठे। इसीलिए उनकी जीत के लिए कोई कोर कसर लोग नगीं छोड़ना चाहते। पैत्रक गांव में घर-घर धार्मिक अनुष्ठान के साथ पथरी देवी पर इसलिए अखंड पाठ शुरू किया गया है क्योंकि इस मंदिर पर लोगों की बहुत आस्था है। रामनाथ कोविंद के पिता पथरी देवी मंदिर में पूजा पाठ किया करते थे। खुद कोविंद गांव में रहने के दौरान पथरी देवी मंदिर में मत्था टेकना नहीं भूलते।

गांव के लोग उन्हें देश के सर्वोच्च पद के करीब ले जाने तक पथरी देवी की ही कृपा मानते हैं। लोग उनकी पुख्ता दावेदारी को लेकर आश्वस्त है फिर भी चुनावी जंग देखने के लिए आतुर हैं। गांव के जसवंत सिंह, विजय पाल सिंह, बलवान सिंह यादव, शिव स्वरूप, गंगा प्रसाद, राजेंद्र सिंह चौहान,  राहुल सिंह, सुमित सिंह, आकाश मिश्रा, वीरेंद्र सिंह भदौरिया आदि ने बताया कि गांव के लोगों ने उनकी जीत के लिए मंदिर में अखंड पाठ शुरू किया है। मंदिर में हवन पूजन का चल रहा है, जीत पक्की होते ही गांव में दीवाली जैसा उत्सव मनाने की तैयारी है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rituals started for Kovind's victory at the presidency
दुष्कर्म का विरोध किया तो महिला को मार दी गोलीहमीरपुर में मामूली विवाद में पत्नी को कुल्हाड़ी से काट डाला