class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पिता ने मोबाइल क्‍या छीना, बेटे ने काट ली हाथ की नस 

गोरखपुर। निज संवाददाता
पिता ने मोबाइल छीनकर रख क्‍या लिया इस छात्र नाराज होकर क्‍लास रूम में अपनी नस काट ली। क्‍लासरूम के अंदर एक छात्र के दिनदहाड़े नस काट लेने की घटना जिसने देखी वो सकते में आ गया। उसे खून से लथपथ देख कर तीन छात्र कॉलेज प्रशासन को सूचना देने के साथ इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गये। गनीमत रही कि छात्र की जान बच गई। डॉक्टरों ने उसे खतरे से बाहर बताया है। 

कोतवाली थाना क्षेत्र के आर्यनगर उत्तरी निवासी रंजन कुमार अग्रवाल बिहार सरकारी नौकरी से सेवानिवृत्त है। उनके तीन बेटों में दूसरे नंबर का ऋषितोश कुमार अग्रवाल सेण्ट एण्ड्रयूज कॉलेज में एमए प्रथव वर्ष हिन्दी की परीक्षा में इस साल फेल हो गया हैं। बुधवार की सुबह करीब 10.30 बजे वह कॉलेज के यूनिफार्म में पहुंचा। वह सेडिका के एक क्लास रूम में बैठकर सुसाइड नोट लिखा और दोपहर करीब डेढ़ बजे अपने दोनों हाथ की कलाई की नस ब्लेड से काट ली। क्लास रूप के पास से गुजर रहे बीए तृतीय वर्ष के छात्र अल्तमस, मोहम्मद सुहेल और मोहम्मद आसिफ ने उसे खून से लथपथ देखा। उन्होंने इसकी सूचना कॉलेज प्रशासन को देने के साथ उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचा। डॉक्टरों ने भर्ती कर उसका इलाज शुरू कर दिया। डॉक्टरों ने बताया कि उसकी हालत में सुधार है। 
---------
माता-पिता को देख खोया आपा
बेटे की नस काटने की सूचना के बाद माता-पिता जिला अस्पताल पहुंचे। माता-पिता का देखते ही ऋषितोष आपा खो बैठा। उसने बताया कि वह तीन भाईयों में दूसरे नंबर का है। पहला बेटा आशुतोष दिल्ली एक बैंक में पीओ है। छोटा भाई आयुष पढ़ाई कर रहा है। ऋषितोष ने माता-पिता पर आरोप लगाया कि वह बचपन से ही उसके सीधे पन का फायदा उठाते हुए उसे नीचे दिखाने का अक्सर प्रयास करते हैं।

शुरूआती दौर में पढ़ाई के दौरान अच्छे नंबरों से पास होता था लेंकिन परिवार के लोग खुश नहीं होते थे। जिससे पढ़ाई में रूचि भी कम होने लगी और कम नंबर पाने लगा। इंटर में जब पहुंचा तो सोचने की आदत पड़ गई थी। जिससे वह डिप्रेशन में चला गया। किसी प्रकार बीए किया। लेकिन वह फिर एमए प्रथम वर्ष की परीक्षा में फेल हो गया। इसके बाद परिवार के लोग उसे ताना मारने लगे। जिससे परेशान होकर उसने ऐसा कदम उठाया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Suicide attempt for Mobile in Gorakhpur
75 वर्षीय व्‍यक्ति को बेकाबू स्‍कार्पियो ने रौंदा, मौत फाइलों के दुश्‍मन खत्‍म करने को पाल लीं बिल्लियां