class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिना काम कराए ही खर्च दिए रुपए, बीडीओ, वीडीओ और जेई से होगी वसूली

फरेंदा के ग्रामपंचायत हरपुर में बिना कार्य कराए ही ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों ने मिलीभगत कर दस्तावेजों में साढ़े चार लाख रुपए खर्च कर दिए। तहसील स्तरीय टीम की जांच में गबन की पुष्टि होने पर डीएम ने तत्कालीन बीडीओ, वीडीओ और अवर अभियंता से रिकवरी का आदेश दिया। त्रिभुवन नारायण मिश्र ने जिला अधिकारी से शिकायत की थी कि हरपुर में वित्तीय वर्ष 2016-17 में मनरेगा के तहत परासखाड़ पुल से धनुवाडीह पुल तक के नाले की सफाई कार्य के लिए चार लाख 49 हजार 790 रुपए भुगतान किया गया। हालांकि सफाई कार्य हुआ ही नहीं। डीएम ने मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम गठित कर रिपोर्ट तलब की। जांच में नाले का सफाई कार्य नहीं मिला। दस्तावेज में चार लाख 49 हजार सात सौ 90 रुपए भुगतान कर दिया गया। रिपोर्ट पर डीएम ने तत्कालीन कार्य प्रभारी वीडीओ पृथ्वीराज यादव, कार्य का मापी करने वाले अवर अभियंता सुरेंद्रनाथ पांडेय और बीडीओ बीके मोहन से वसूली का आदेश दिया। रिकवरी धनराशि 15 दिन के अंदर खाते में जमा करनी है। ऐसा नहीं करने पर सभी को विभागीय कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Action against BDO, VDO and JE in Maharajganj
निवर्तमान पार्षदों ने ली कसम, स्वच्छ बनाएंगे अपना महानगरअलर्ट:राप्तीनगर और बरगदवा क्षेत्र में आज चार घण्टा कटी रहेगी बिजली