class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रागिनी के हत्यारों को दिलायेंगे कड़ी सजा, सरकार परिवार के साथ: श्रीकांत शर्मा

दरिंदों को दिलायेंगे कड़ी सजा, सरकार परिवार के साथ

12वीं की छात्रा रागिनी दूबे की हत्या के पांचवें दिन पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे प्रदेश के ऊर्जा तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा ने आश्वस्त किया कि बिटिया के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलायेंगे। इसकी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। पीड़ित परिवार के साथ सरकार मजबूती से खड़ी है और पूरी सुरक्षा उपलब्ध करायी जायेगी। मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट से कराने की परिवार की मांग पर भी गंभीरता से विचार हो रहा है। पीड़ित परिवार को मुआवजा के लिए भी मुख्यमंत्री से बात करेंगे। कहा कि बेटियों के प्रति बढ़ रहे अपराध को रोकने के लिए समाज को संवेदनशील व जागरूक होना होगा। 

दोपहर में करीब ढाई बजे बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के बजहां गांव में पहुंचे प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा ने घर के आंगन में जाकर रागिनी के परिजनों से मुलाकात की। करीब आधा घंटे तक अंदर रहकर शर्मा ने रागिनी की मां, बहन व पिता से घटना के बावत बातचीत की। साथ ही उनकी इच्छा जानने का भी प्रयास किया। 

बाहर निकलने पर बातचीत में मंत्री ने कहा कि यह घटना दरिंदगी की पराकाष्ठा है। हमारी बिटिया बहादुर थी। उसकी जान लेने वाले कायर लोग थे। कहा कि आठ घंटे के अंदर मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया। उन सबके खिलाफ मजबूत धाराओं में कार्रवाई होगी, ताकि कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। कहा कि हमारी बेटियां सुरक्षित रहें, इसके लिए सरकार हर तरह के विकल्प पर काम कर कर रही है। 

रागिनी के परिवार को किसी प्रकार की सहायता या मुआवजा के सवाल पर मंत्री ने कहा कि सरकार पूरी तरह इस परिवार के साथ खड़ी है। मुख्यमंत्री के आदेश पर हम यहां आये हैं। परिवार की मंशा है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट से सुनवाई हो, ताकि जल्द से जल्द सजा हो सके। आरोपितों पर एनएसए की कार्रवाई भी हो रही है। परिवार के मुआवजा के लिए मुख्यमंत्री से बात करेंगे। इस दौरान मंत्री के साथ सांसद भरत सिंह, बलिया नगर के विधायक आनंद स्वरूप शुक्ल, बिल्थरारोड विधायक धनंजय कन्नौजिया, सिकंदरपुर विधायक संजय यादव, डीएम सुरेन्द्र विक्रम, एसपी सुजाता सिंह आदि थे। 

पुलिसिया चूक को बताया राजनीति
रागिनी हत्याकांड में पुलिसिया चूक से जुड़े सवाल पर प्रभारी मंत्री राजनीति की बात करने लगे। घटना के करीब 30 घंटे बाद मौके पर एसपी के पहुंचने या पूरे दिन डीआईजी के जिले में होन के बावजूद रागिनी के घर या घटनास्थल तक नहीं आने के सवाल का सीधा जवाब देने की बजाय मंत्री ने कहा यह आरोप उन लोगों के हैं जो पूर्व की सरकारों में रहे। बलात्कारियों को अपनी गाड़ी में लेकर घूमते रहे। हमारी प्राथमिकता दरिंदों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की है। 

चार दिन बाद आरोपितों पर लगा 'पास्को'
12वीं की छात्रा रागिनी हत्याकांड में पुलिस ने आरोपितों पर 'पास्को' के तहत भी कार्रवाई कर दी है। बांसडीहरोड एसओ बृजेश शुक्ल के अनुसार हत्यारोपितों पर पास्को एक्ट के तहत कार्रवाई की गयी है।

खास बात यह है कि आरोपितों को पास्को लगाने में पुलिस को चार दिन का समय लग गया। शुक्रवार को 'हिन्दुस्तान' ने आरोपितों पर पास्को के तहत कार्रवाई के बावत एसओ से पूछा था। उन्होंने कहा कि रागिनी के उम्र से सम्बंधित कुछ कागजातों की आवश्यकता है। उसके उपलब्ध होते ही पास्को के तहत कार्रवाई कर दी जायेगी। ताज्जुब है कि रागिनी की उम्र जानने में पुलिस को चार दिनों का समय लग गया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Daridas will be given a severe punishment, with the government family
बलिया में गैंगरेप के बाद बक्सर की युवती को मारी गोलीजमीन की जांच, चबूतरा गिरवाया