class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक फायरिंग में यूपी का जवान शहीद VIDEO : शहादत के 4 घंटे पहले किया था फोन, मां-पत्नी को कहा था 'अपना ख्या‍ल रखना'

1 / 2

पाक की फायरिंग में शहीद

2 / 2पाक की फायरिंग में शहीद

PreviousNext

जम्मू जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास शुक्रवार को पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से की गई फायरिंग में यूपी के बलिया में रहने वाले बीएसएफ के जवान बिजेंद्र बहादुर शहीद हो गए हैं। कांस्टेबल बिजेंद्र बहादुर अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास अरनिया सेक्टर में अग्रिम चौकी पर बाड़ के पास  तैनात थे। तभी देर रात करीब 12 बजकर 20 मिनट पर पाकिस्तानी सैनिकों ने मोटार्र दागे और गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें  एक गोली जवान के बाईं तरफ, पेट पर लगी और अस्पताल ले जाते हुए उसने दम तोड़ दिया।

बीएसएफ के जवान ने शाहदत से चार घंटे पहले यानि गुरुवार रात 9 बजे अपनी पत्नी सुष्मिता से फोन पर बात की थी। इस दौरान बिजेंद ने मां-पिता और दोनों बेटों की हाल चाल पूछा और पत्नी को सबका ख्याल रखने को कहा। पत्नी से बात करने के बाद बिजेंद्र ने मां राजकुमारी से भी बात की थी। बिजेंद्र ने मां को कहा था कि 'अपना ख्याल रखना' इतना कहने के बाद मां को प्रणाम किया और फोन रख दिया।

सीजफायर का उल्लंघन: पाक की फायरिंग में यूपी के बलिया का BSF जवान शहीद

वहीं पति की शहादत की खबर सुनने के बाद पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। उसे क्या पता था कि जो फौजी पति अपना तथा मां-बाप और बच्चों का ख्याल रखने की नसीहत दे रहा था वो खुद ही सबको मझधार में छोड़कर चला जाएगा। वहीं देश पर कुर्बान हो गए अपने बेटे की याद में मां रोते रोते बेसुध हो जा रही है। पिता को बेटे की शहादत पर गर्व है। फिर भी इकलौते बेटे को खोने का गम वे छिपा भी नही पा रहे।

बेटे से बात कर मां सुकून की नींद सो गई तो पत्नी भी पति की मीठी यादों में खो गई। क्या पता कि बिजेंद्र से अब उनकी कभी बात नही हो पाएगी। बात करने के ठीक 4 घंटे बाद पाक गोलीबारी में बिजेंद्र शहीद हो गए। शुक्रवार का दिन परिवार पर आफत बनकर आया। 4 बजे पिता अशोक सिंह के फोन की घंटी बजी। उधर से जो खबर आई उसे सुनकर पिता स्तब्ध रह गए। परिवार में कोहराम मच गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:before martyrdom Brijendra spoke to his wife and mother Take care of yourself
पाक की फायरिंग में शहीद: बृजेन्द्र का परिवार बोला-सुबह 4 बजे मिली सूचना, पत्नी और बच्चों का रोकर बुरा हाल'स्वदेशी अपनायें, चाइनिज भगायें'