बुधवार, 04 मार्च, 2015 | 09:48 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज के शुरुआती कारोबार में पहली बार 30,000 अंक के पार, निफ्टी भी 9,100 अंक के उपर पहुंचा।रिजर्व बैंक ने नीतिगत ब्याज दर (रेपो दर) 0.25 प्रतिशत घटाई, नई दरें तत्काल प्रभाव से लागू।आज से दूरसंचार विभाग करेगा 2जी, 3जी स्पेक्ट्रम की नीलामीजमशेदपुर: चक्रधरपुर कैंप में सीआरपीएफ जवान ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या की, 2 दिन पहले वह छुट्टी से लौटा था।
तरक्की
हेल्थ
कैसे पाएं मनचाहा वेतन
नौकरी की तलाश के दौरान दिए जाने वाले इंटरव्यू अपने आप में काफी मेहनत मांगते हैं। इंटरव्यू की समूची प्रक्रिया एक मनोवैज्ञानिक आकलन भी होता है, जिसमें कोई भी कुशल इंटरव्यूअर अपने प्रश्नों के जवाब में प्रत्याशी के हुनर के साथ-साथ उसकी महत्वाकांक्षाओं का भी अंदाजा लेता है। 07:42 PM
खिल उठें नए रंगों के साथ
होली रंगों का त्योहार है। यह संसार कितना रंग भरा है। प्रकृति की तरह ही हमारी भावनाओं तथा संवेदनाओं का रंगों से संबंध है- क्रोध का लाल, ईष्र्या का हरा, आनंद और जीवंतता के लिए पीला, प्रेम का गुलाबी, नीला विस्तृतता के लिए, शांति के लिए श्वेत, त्याग का केसरिया और ज्ञान का जामुनी।  08:05 PM
परमात्मा से अपना रंग मिलाने का त्योहार
एक ही उत्सव है, किन्तु उत्तर भारत में वही हुआ होली, बिहार में हुआ फगुआ और बंगाल में हुआ श्रीकृष्ण की दोलयात्रा। उत्तर भारत में यह हुआ मूलत: सामाजिक उत्सव, किन्तु बंगाल में यह हुआ धार्मिक उत्सव। चैतन्य महाप्रभु ने बंगाल में होली उत्सव को रूपांतरित करके श्रीकृष्ण की दोलयात्रा का प्रचलन किया।  08:03 PM
 
धर्मक्षेत्रे
होली रंगों का त्योहार है। यह संसार कितना रंग भरा है। प्रकृति की तरह ही हमारी भावनाओं तथा संवेदनाओं का रंगों से संबंध है- क्रोध का लाल, ईष्र्या का हरा, आनंद और जीवंतता के लिए पीला, प्रेम का गुलाबी, नीला विस्तृतता के लिए, शांति के लिए श्वेत, त्याग का केसरिया और ज्ञान का जामुनी।
 
एक ही उत्सव है, किन्तु उत्तर भारत में वही हुआ होली, बिहार में हुआ फगुआ और बंगाल में हुआ श्रीकृष्ण की दोलयात्रा। उत्तर भारत में यह हुआ मूलत: सामाजिक उत्सव, किन्तु बंगाल में यह हुआ धार्मिक उत्सव। चैतन्य महाप्रभु ने बंगाल में होली उत्सव को रूपांतरित करके श्रीकृष्ण की दोलयात्रा का प्रचलन किया।
 
सबसे बड़ा तिरंगा फरीदाबाद की भूमि पर यह सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया है। बलिदान के बाद देश को यह तिरंगा मिला। फरीदाबाद की भूमि पर यह सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज लगाया गया है। बलिदान के बाद देश को यह तिरंगा मिला। अन्य फोटो
शब्द
कवि-चिंतक सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जन्मदिन 7 मार्च को पड़ता है। यहां प्रस्तुत हैं उनकी कुछ टिप्पणियां और कविताएं।
 
यह पुस्तक बौद्ध इतिहास के एक अत्यंत महत्वपूर्ण संदर्भ, थेरीगाथा के सहारे वर्तमान के स्त्री-संसार के अंतर का उद्घाटन करती है।
 
सर्वाधिक पढ़ी
गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई तस्वीरे
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें
आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूप
सूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 07:08 AM
 : 05:28 PM
 : 94 %
अधिकतम
तापमान
21°
.
|
न्यूनतम
तापमान