मंगलवार, 16 सितम्बर, 2014 | 12:55 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
यूपीः चरखारी में सपा के कप्तान सिंह 50805 वोटों से जीते।हमीरपुर- 24 राउंड तक सपा के शिवचरण प्रजापति 58 हजार वोटों से आगे।मैनपुरीः सपा के तेज प्रताप डेढ़ लाख वोटों से भाजपा प्रतिद्वंद्वी प्रेम सिंह शाक्य से आगे।मुरादाबाद: ठाकुरद्वारा में पहली बार खुला सपा का खाता, नवाब खान 27023 मतों से जीते।पं बंगाल में बीजेपी ने सीट जीती।रोहनिया विस उपचुनाव: यहां सप्रा प्रत्‍याशी आगे। तीसरे चक्र की मतगणना तक अपना दल-भाजपा प्रत्‍याशी सेतेदेपा उम्मीदवार टी सौम्या ने आंध्रप्रदेश में नंदीगामा (एससी) विधानसभा उपचुनाव में करीब 75,000 वोटों से जीत हासिल की।राजस्थानः नसीराबाद सीट कांग्रेस ने जीती।रॉबर्ट वाड्रा को दिल्ली हाईकोर्ट से राहतजमीन घोटाले में सीबीआई जांच नहीं होगीहाईकोर्ट में सीबीआई की अर्जी खारिजनिघासन (लखीमपुर खीरी) उपचुनाव में सपा को बढ़त मिली।यूपी की मैनपुरी लोकसभा सीट पर सपा उम्मीदवार 33,000 वोटों से आगे।जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग 13 दिन के बाद यातायात के लिए फिर खुला।
तरक्की
धर्मक्षेत्रे
औषधि का काम करती है दूर्वा
श्रीगणेश को दूर्वा (दूब) इतनी प्रिय क्यों है, इसके पीछे एक पौराणिक कथा है। पृथ्वी पर अनलासुर राक्षस के उत्पात से त्रस्त ऋषि-मुनियों ने इंद्र से रक्षा की प्रार्थना की।  09:26 PM
त्र्यंबकेश्वर: तीन नेत्रों वाले शिव
गवान शंकर के 12 ज्योतिर्लिगों में आठवें स्थान पर आते हैं त्र्यंबकेश्वर। त्र्यंबकेश्वर मंदिर महाराष्ट्र में नासिक शहर से 36 किलोमीटर दूर है। त्रि-अंबक यानी तीन नेत्रों वाले शिव। 09:24 PM
पितरों का आगमन
संत एकनाथ जी के पिता का श्राद्ध था। घर में श्रद्ध की रसोई बन रही थी। हलवा पकने लगा तो उसकी सुगंध दूर तक फैल गई। इसी समय कुछ गरीब परिवार उधर से जा रहे थे। 09:22 PM
 
धर्मक्षेत्रे
श्रीगणेश को दूर्वा (दूब) इतनी प्रिय क्यों है, इसके पीछे एक पौराणिक कथा है। पृथ्वी पर अनलासुर राक्षस के उत्पात से त्रस्त ऋषि-मुनियों ने इंद्र से रक्षा की प्रार्थना की।
 
गवान शंकर के 12 ज्योतिर्लिगों में आठवें स्थान पर आते हैं त्र्यंबकेश्वर। त्र्यंबकेश्वर मंदिर महाराष्ट्र में नासिक शहर से 36 किलोमीटर दूर है। त्रि-अंबक यानी तीन नेत्रों वाले शिव।
 
हैप्पी न्यू ईयर का म्यूज़िक लॉन्च आने वाली फिल्म हैप्पी न्यू ईयर के म्यूज़िक लॉन्च के दौरान दीपिका पादुकोण कुछ इस अंदाज में नजर आईं। आने वाली फिल्म हैप्पी न्यू ईयर के म्यूज़िक लॉन्च के दौरान दीपिका पादुकोण कुछ इस अंदाज में नजर आईं। अन्य फोटो
शब्द
सन 1949 में नागपुर आने पर काफी अर्से तक मुक्तिबोध इलाहाबाद, बनारस और फिर जबलपुर के अपने अनुभवों के कारण बेहद आशंकाग्रस्त रहते थे। उन्हें हवा में तलवारें दिखाई देतीं।
 
दालिया रवीन्द्रनाथ ठाकुर की स्मरणीय कहानी है। हृषीकेश सुलभ का यह नाटक उसी पर आधारित है। इतिहास में युद्ध और सत्ता संघर्ष जितना पुराना है, प्रेम, विश्वास और समर्पण भी उतना ही पुराना है।
 
सर्वाधिक पढ़ी
गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई ख़बरें
सर्वाधिक पसंद
की गई तस्वीरे

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°